पुलिस बंदोबस्त में कार्रवाई, 3 जेसीबी सहित कार्रवाई में जुटी 2 टीमें

नागपुर. केलीबाग रोड के चौड़ाइकरण में बाधा आ रही कुछ सम्पत्तियों का अधिग्रहण कर मनपा को हस्तांतरण तो किया गया, किंतु इसे भी कुछ सम्पत्तिधारकों की ओर से हाईकोर्ट में चुनौती दी गई. जहां हाईकोर्ट की ओर से भी कोई राहत नहीं मिल पाई. सम्पत्तिधारकों द्वारा उठाए गए इस कदम को देखते हुए गुरूवार को मनपा द्वारा पुलिस बंदोबस्त में कार्रवाई की शुरूआत की गई.

प्रवर्तन विभाग की 3 टीमों में से 2 टीमें 3 जेसीबी के साथ तोडू कार्रवाई में लगाई गई. जिसमें कुछ मकानों को पूरी तरह ध्वस्त कर दिया गया है. विशेषत: अधिग्रहण की प्रक्रिया पूरी होते ही मनपा द्वारा सम्पत्तिधारकों से इसका कब्जा लिया गया था. जिसके बाद से ही तुरंत कार्रवाई शुरू कर दी गई. 

आवागमन करना पड़ा बंद
उल्लेखनीय है कि केलीबाग रोड के चौड़ाईकरण के लिए 33 सम्पत्तियों का अधिग्रहण होने के बाद इनका निर्माणकार्य हटाया जाना है. कार्रवाई में किसी तरह की बाधा उत्पन्न ना हो, इसके लिए मार्ग के दोनों ओर का आवागमन बैरिकेड लगाकर रोका गया है. चरणबद्ध तरिके से इन अधिग्रहित सम्पत्तियां का निर्माण निष्कासित किया जा रहा है.

गुरूवार को वसंत श्रोती, राजाराम भोसले, राजे संग्रामसिंह भोसले, राजे शिवराजसिंह भोसले, दिलीप तुपकर, राजकुमार संग्रामसिंह भोसले, रविकांत जोशी, विट्ठल रुखमाई देवस्थान, सुधीर मुंगणकर, गुप्ता आदि का निर्माण जेसीबी और पोकलेन मशीन लगाकर तोडा गया.

कार्रवाई में प्रवर्तन विभाग प्रमुख महेश मोरोणे, गांधीबाग जोन के सहायक आयुक्त अशोक पाटिल, नायब तहसीलदार सुनील सालवे, मंडल अधिकारी राजेश देठे, प्रवर्तन अधीक्षक संजय कांबले के मार्गदर्शन में फालके, सुनील बावने, शादाब खान, आतिश वासनिक और विशाल ढोले ने हिस्सा लिया. 

आंबेकर के अवैध निर्माण पर भी कार्रवाई
उल्लेखनीय है कि संतोष आम्बेकर की पत्नी नेहा के नाम पर दारोडकर चौक, विदर्भ वखारी संघ इतवारी स्कूल के पास स्थित अनधिकृत इमारत को तोड़ने का सिलसिला कुछ दिनों पहले मनपा के प्रवर्तन विभाग की ओर से शुरू किया गया. गुरूवार को भी कार्रवाई जारी रखते हुए इमारत का कुछ हिस्सा तोड़ा गया है. निर्माणकार्य बढ़ा होने से कार्रवाई जारी रहने की जानकारी प्रवर्तन विभाग ने दी.