File Photo
File Photo

नागपुर. कोरोना की दूसरी लहर आने की विशेषज्ञों द्वारा जताई गई संभावना के चलते जहां प्रशासन सतर्क हो गया है, वहीं लोगों में भी इसे लेकर चिंता होने का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि अब बिना मास्क बाहर घूमने वालों के आंकड़े में कमी दिखाई दे रही है. सोमवार को मनपा के उपद्रव शोध दल की ओर से केवल 123 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई. लंबे समय बाद ही सही, लेकिन बिना मास्क घूमने वालों में कमी आने से मनपा ने राहत की सांस ली है. मनपा के डॉक्टरों का मानना है कि कोरोना की दूसरी लहर का शहर में क्या असर होगा, फिलहाल इसका अंदाजा लगाना संभव नहीं है. किंतु विशेषज्ञों द्वारा दिए जा रहे संकेतों के अनुसार प्रशासन को तैयार रहना है. यही कारण है कि बिना मास्क घूमने वालों पर अभी भी कड़ी नजर रखी जा रही है.

21,979 पर अब तक कार्रवाई

बताया जाता है कि सोमवार को हुई कार्रवाई में उपद्रव शोध दल की ओर से कुल 61,500 रु. का जुर्माना वसूल किया गया. शहर के सभी 10 जोन में अलग-अलग दस्ते की ओर से कार्रवाई की गई. सूत्रों के अनुसार सरकारी कार्यालयों में अवकाश होने तथा छुट्टी के कारण लोगों के घरों से बाहर नहीं निकलने के कारण भी बिना मास्क की कार्रवाई में कमी दिखाई दे सकती है. लेकिन दस्ते को सतर्क रहना होगा. चूंकि मनपा की ओर से जुर्माना बढ़ाए जाने के बाद भी लंबे समय तक बिना मास्क निकलने वालों की संख्या में कमी नहीं आई थी जिससे कड़ा रुख जारी रखना होगा. मनपा की ओर से शुरू किए गए इस अभियान में अब तक कुल 21,979 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई, जिसमें 93.48 लाख रु. का जुर्माना वसूला गया है. 

जुर्माना बढ़ाने के बाद अधिक उल्लंघन

बताया जाता है कि कोरोना पर नियंत्रण के लिए लोगों पर मास्क की अनिवार्यता लागू की गई, जिसका पालन सुनिश्चित करने के लिए मनपा की ओर से बिना मास्क पाए जाने पर शुरुआती दौर पर 200 रु. का जुर्माना ठोकने का निर्णय लिया गया था. 200 रु. जुर्माना होने के कारण लोगों द्वारा इसे काफी हलके में लिया गया जिससे मनपा को जुर्माना बढ़ाना पड़ा. मनपा की ओर से 5,470 लोगों पर कार्रवाई की गई थी, जिसमें 200 रु. के अनुसार वसूली की गई थी. किंतु जुर्माना 500 रु. कर देने के बाद 16,509 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई है, जिसमें 82.54 लाख रु. की वसूली हो गई है.