Akshay Jaipure Murder

    नागपुर. 2 दिन पहले अंबाझरी थानांतर्गत सुदामनगरी में अपराधी सेवानगर निवासी अक्षय बाबूलाल जयपुरे (25) की हत्या के मामले में पुलिस ने कड़ी मेहनत के बाद 48 घंटों के भीतर 3 आरोपियों को धरदबोचा. गिरफ्तार आरोपियों में सुदामनगरी निवासी रोशन कैलाश सनेश्वर (28) और अमन रमेश येरपुड़े (25) के साथ उनकी मदद करने वाला मध्य प्रदेश के बेरडी, तहसील सौंसर, जिला छिंदवाड़ा का निवासी अमन कैलाश सनेसर (26) शामिल है.

    आरोपियों के पास से भागने के लिए उपयोग की गई बाइक (एमएच31/बी-8761) भी जब्त की गई. बुधवार रात करीब 9.30 बजे सनेश्वर और येरपुड़े का अक्षय से अवैध शराब के व्यापार को लेकर विवाद हुआ था. विवाद इतना बढ़ गया कि दोनों ने अक्षय पर धारदार हथियार से हमला करके उसे मौत के घाट उतार दिया और फरार हो गये.

    मोबाइल सर्विलांस से मिला सुराग

    घटना की जानकारी मिलते ही अंबाझरी पुलिस मौके पर पहुंची. सूत्रों से पुलिस को पता चला कि अक्षय की हत्या में 2 लोग शामिल थे. दोनों के मोबाइल सर्विलांस पर रख दिए गए जिससे उनकी लोकेशन पता चल रही थी. इस बीच पता चला कि आरोपियों ने हत्या के तुरंत बाद बेरडी में अमन सनेसर को फोन करके जानकारी दी. अमन ने दोनों के छुपने का इंतजाम कर दिया. इतना ही नहीं, दोनों के खाने-पीने का इंतजाम भी करवाया. लेकिन जोन-2 की डीसीपी विनिता साहू और एसीपी सुधीर नंदनवार के मार्गदर्शन में आरोपियों की तलाश जारी थी. 

    मदद करने वाला भी आरोपी

    इस बीच पीआई नरेन्द्र हिवरे की टीम भी सरगर्मी से आरोपियों की तलाश कर रही थी. अंतत: गुप्त सूत्रों की मदद से 48 घंटे के भीतर रोशन सनेश्वर और अमन येरपुडे को नागपुर से ही गिरफ्तार कर लिया गया. वहीं हत्या के बाद फरार होने और छुपने में उनकी मदद करने वाले अमन सनेसर को बेरडी, सौंसर से धरदबोचा. पुलिस ने सनेसर को भी हत्या का आरोपी बनाया है. यह कार्रवाई डीसीपी विनिता साहू, एसीपी नंदनवार, एसीपी तृप्ति जाधव और पीआई हिवरे के मार्गदर्शन में की गई.