Air force soldier commits suicide in Udhampur
Representational Pic

  • धरमपेठ में मची खलबली, आरोपी पहुंचा धंतोली थाने

नागपुर. धरमपेठ परिसर में शनिवार की शाम एक सनसनीखेज घटना हुई. एक युवक ने नकली पिस्तौल के दम पर 2 बहनों के अपहरण का प्रयास किया. चीख-पुकार होने पर वह अपनी बाइक छोड़कर भाग निकला. तुरंत पुलिस विभाग सक्रिय हो गया, लेकिन इसी दौरान आरोपी युवक ने धंतोली थाने जाकर सरेंडर कर दिया. कर्जा बाजारी होने के कारण यह कदम उठाए जाने की जानकारी उसने पुलिस को दी. पकड़ा गया युवक कलमना निवासी रोशन विनोद खांडेकर (24) बताया गया. जानकारी के अनुसार व्यापारी पुत्री धरमपेठ में खरीदारी करने आई थी. परिसर की दूकान से कपड़े खरीदने के बाद दोनों अपनी कार में जा बैठी. बड़ी बहन ड्राइवर सीट पर जबकि छोटी उसके बगल में बैठी थी. दोनों के कार में बैठते ही रोशन पिछली सीट पर जा बैठा. युवतियों ने उसे बाहर निकलने को कहा.

पिस्तौल देखते ही मचाया शोर 

इसी दौरान उसने पिस्तौल निकाल ली. बंदूक देखते ही दोनों बहनें घबरा गई और जोर-जोर से चिल्लाने लगी. पकड़े जाने के डर से रोशन गाड़ी से उतरकर भाग निकला. घटना की जानकारी कंट्रोल रूम को दी गई. खबर मिलते ही डीसीपी विनीता शाहू और अंबाझरी के इंस्पेक्टर विजय करे मौके पर पहुंचे. क्राइम ब्रांच की टीमें भी मौके पर पहुंची. परिसर की दूकानों में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगालने पर पता चला कि रोशन बाइक पर वहां आया था. डीआईजी क्राइम सुनील फुलारी ने तुरंत टीमों को बाइक मालिक का पता लगाने को कहा. रोशन की बाइक पर एम.एच.49-ए.टी.4345 नंबर था. जांच करने पर पता चला कि नंबर मिनी ट्रक का है. मिनीट्रक रोशन के पिता विनोद के नाम पर था. पुलिस का संदेह और बढ़ गया. वारदात के पीछे किसी पेशेवर अपराधी का हाथ होने का अनुमान लगाया गया. 

सिर पर ढ़ाई लाख का कर्ज

खोजबीन शुरु ही थी कि वायरलैस पर जानकारी मिली कि धरमपेठ की वारदात का आरोपी धंतोली पुलिस थाने में सरेंडर हुआ है. धरमपेठ से भाग कर रोशन पैदल ही धंतोली थाने पहुंचा. थाने के सामने खड़े कर्मचारियों को उसने अपनी करतूत के बारे में बताया. तुरंत डीसीपी विनीता शाहू और एसीपी रेखा भवरे धंतोली थाने पहुंची. पूछताछ में रोशन ने बताया कि वह मिनीट्रक चलाता है. उसपर 2.50 लाख रुपये का कर्ज था. लेनदार पैसे के लिए परेशान कर रहे थे. इसीलिए वह तनाव में था. प्लास्टिक खिलौने वाली पिस्तौल लेकर उसने किसी को धमकाकर पैसे वसूलने का प्लान बनाया. दोनों युवतियां उसे बटुकभाई ज्वेलर्स के सामने से आकर कार में बैठती दिखाई दी. उन्हें धमकाकर पैसे वसूलने का प्लान था, लेकिन घबराकर वहां से भाग निकला. रोशन का कोई आपराधिक रिकार्ड नहीं मिला है. देर रात तक अंबाझरी पुलिस उससे पूछताछ कर रही थी.