Auction, Bid
Representational Pic

  • लक्ष्मीनगर जोन में एक सम्पत्ति की बिक्री
  • 60 सम्पत्तियों की नीलामी तय

नागपुर. मनपा के सर्वाधिक आय के स्रोत सम्पत्ति कर की वसूली के लिए भले ही प्रशासन की ओर से हर वर्ष हरसंभव प्रयास किए जाते हो, लेकिन बजट में दिए गए आंकड़ें को कभी भी पूरा नहीं किया जा सका है. यहां तक कि लंबे समय से बकाया कर का आंकड़ा लगातार बढ़ता ही जा रहा है. अब बकाया वसूली के लिए मनपा की ओर से कमर कसी गई. जिसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि आयुक्त राधाकृष्णन. बी के आदेश होते ही टैक्स विभाग प्रमुख उपायुक्त मिलिंद मेश्राम की ओर से सम्पत्तियों की जब्ती और नीलामी की प्रक्रिया शुरू की गई. यहां तक कि लक्ष्मीनगर जोन में एक सम्पत्ति की नीलामी भी पूरी की गई है. बताया जाता है कि शीघ्र ही लक्ष्मीनगर, गांधीबाग और मंगलवारी जोन में जब्त 60 सम्पत्तियों की नीलामी प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी.

27 वर्षों से सम्पत्ति कर का बकाया

उल्लेखनीय है कि लक्ष्मीनगर जोन में सम्पत्तिधारक वृंदा दाडू द्वारा गत 27 वर्षों से सम्पत्ति कर का भुगतान नहीं किया गया था. जिससे विभाग की ओर से कई बार नोटिस दिया गया. यहां तक कि जब्ती की कार्रवाई करने के बाद भी बकाया कर भरने के लिए कुछ समय दिया गया. किंतु कर नहीं भरने पर नीलामी की प्रक्रिया पूरी की गई. विशेषत: सम्पत्तिधारक से बकाया कर के रूप में कुल 62,400 रु. का कर वसूल करना था.

महाराष्ट्र मनपा अधिनियम के अनुसार हुई नीलामी में 57 लाख रु. में सम्पत्ति की बोली लगाई गई. विभाग द्वारा प्रक्रिया पूरी कर सम्पत्ति का पंजीबद्ध बिक्रीपत्र खरीदीदार को हस्तांतरित किया गया. विभाग द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार लक्ष्मीनगर जोन अंतर्गत 27 सम्पत्तिधारक, गांधीबाग जोन में 10 और मंगलवारी जोन में 23 सम्पत्तिधारकों द्वारा वर्षों से कर अदा नहीं किया गया है. जिससे मनपा आयुक्त ने इन सम्पत्तियों की नीलामी कर बकाया कर वसूलने के कड़े आदेश जारी किए.

सभी जोन का टार्गेट निश्चित

सूत्रों के अनुसार हाल ही में मनपा आयुक्त द्वारा सभी जोन के सहायक आयुक्तों की बैठक ली गई थी. जिसमें विशेष रूप से सम्पत्ति कर की वसूली को लेकर गहन चर्चा की गई. जिसके बाद बकाया कर वसूली के लिए सहायक आयुक्तों को विशेष मुहिम चलाकर कर वसूली करने की हिदायत दी गई. यहां तक कि प्रत्येक जोन में बकाया के अनुसार संबंधित जोन को वसूली का टार्गेट दिया गया है. इसके अलावा दिए गए टार्गेट के अनुसार वसूली की जा रही है या नहीं, इसका आंकलन करने के लिए रिपोर्ट भी पेश करने के आदेश दिए गए हैं. मनपा आयुक्त ने सभी बकाया सम्पत्ति कर धारकों को तुरंत बकाया अदा कर इस तरह की त्रास्दी से बचने की अपील की.