Demand for giving economic package to poultry farm entrepreneurs
File Photo

  • वारंगा को कलेक्टर ने घोषित किया बाधित क्षेत्र
  • 01 किमी परिसर के सभी मुर्गे-मुर्गियों को नष्ट करने का आदेश
  • 10 किमी परिसर निगरानी क्षेत्र घोषित

नागपुर. बर्ड फ्लू की दस्तक अब जिले में हो चुकी है और इसकी पुष्टि भी कर दी गई है. जिलाधिकारी रवीन्द्र ठाकरे ने बर्ड फ्लू के प्रसार को रोकने के लिए सारी उपाययोजना करने का आदेश जारी किया है. इसके साथ उन्होंने मौजा वारंगा शिवार में मुर्गों के बर्ड फ्लू से मरने पर पूरे परिसर को बाधित घोषित कर दिया है. उन्होंने संबंधित पोल्ट्री फार्म के 1 किमी के दायरे के क्षेत्र को रेड जोन घोषित किया है.

दायरे में आने वाले सभी कुक्कुट पक्षी, कुक्कुट खाद्य और कुक्कुट पक्षियों के खाद को नष्ट करने का आदेश जारी कर दिया है. बता दे कि दो-तीन दिन पूर्व ही वारंगा के एक पोल्ट्री फार्म में बायलर मुर्गों की मौत हो गई थी. घटना से खलबली मच गई थी. जांच के लिए नमूने लैब में भेजे गए थे. बताया जा रहा है कि रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद ही कलेक्टर ने उक्त आदेश जारी किया है.

जिले में न हो प्रसार

कलेक्टर ने वारंगा शिवार संसर्ग केन्द्र से 10 किमी के दायरे में आने वाले परिसर को निगरानी क्षेत्र घोषित कर दिया है. संबंधित विभाग को पूरे इलाके में पोल्ट्री फार्म के साथ ही अन्य पक्षियों पर भी नजर रखने का निर्देश दिया गया है. अगर कहीं कोई दूसरे पक्षी भी मृत पाए गए तो त्वरित जांच के निर्देश दिए गए हैं. इसके साथ ही संक्रमित पोल्ट्री फार्म में रखे सारे सामानों और शेड आदि का फ्यूमिगेशन यानी निर्जंतुकीकरण करने का निर्देश दिया गया है.