nmc

  • 50,000 रु. का ठोका गया था जुर्माना

नागपुर. सोमवार की दोपहर मनपा मुख्यालय में उस समय काफी देर तक माहौल बिगड़ गया, जब बीवीजी कम्पनी की कारगुजारी और कम्पनी से अधिकारियों की सांठगांठ को लेकर राष्ट्रवादी कांग्रेस की ओर से नारेबाजी और प्रदर्शन किया गया. यहां तक कि सांठगांठ करनेवाले कर्मचारी को तुरंत प्रभाव से निलंबित करने की मांग को लेकर अति. आयुक्त निपाने का घेराव भी किया गया. शहर अध्यक्ष दुनेश्वर पेठे के मार्गदर्शन और रायुकां के शहर अध्यक्ष शैलेन्द्र तिवारी के नेतृत्व में कचरा घोटाले को लेकर जमकर प्रदर्शन किया गया. चर्चा के दौरान उन्होंने कहा कि आसीनगर जोन में बीवीजी कम्पनी का कारगुजारी उजागर की गई थी. जिसमें टिप्पर में कचरे की जगह मिट्टी भरते हुए टिप्पर और जेसीपी पकड़ाया गया था. मामला उजागर होने के बाद आनन-फानन में अधिकारियों ने टिप्पर और जेसीबी जब्त कर कम्पनी पर 50 हजार रु. का जुर्माना ठोककर नोटिस भी जारी कर दिया था.

कोई लिखित अनुमति ही नहीं

उन्होंने कहा कि वैसे तो समस्याओं को लेकर शिकायत आने पर अधिकारी और कर्मचारी कुर्सी से नहीं हिलते हैं. लेकिन इस मामले में बड़ी तत्परता दिखाई गई है. किसी भी वरिष्ठ अधिकारी की अनुमति नहीं होने के बावजूद आसीनगर जोन के प्रभारी स्वास्थ्य निरीक्षक रोशन जांभुलकर ने रविवार को छुट्टी के दिन ट्रक और जेसीपी छोड़ दिया. इस तरह की लापरवाही के लिए तुरंत प्रभाव से उन्हें निलंबित करने की मांग की. चर्चा के दौरान बताया गया कि कचरा संकलन करनेवाली बीवीजी और एजी एन्वायरों नामक कम्पनियां आम जनता का पैसा लूट रही है. कचरे के नाम पर मिट्टी ले जाकर नापजोक के आधार पर मनपा से पैसा वसूल कर रही है. इसमें सीधे तौर पर अधिकारियों की सांठगांठ से इनकार नहीं किया जा सकता है.

भ्रष्ट कम्पनी लगातार कर रही घोटाले

चर्चा के दौरान बताया कि भ्रष्ट कम्पनियों के हाथों मनपा ने जिम्मेदारी सौंप दी है. जबकि कम्पनियां लगातार घोटाले करती जा रही है. ऐसी भ्रष्ट कम्पनियों का समझौता तुरंत प्रभाव से रद्द किया जाना चाहिए. रविवार को अवकाश के बावजूद बिना जुर्माना लिए ट्रक और जेसीबी क्यों छोड़ दिया. इसकी जांच भी की जानी चाहिए. शिष्टमंडल में दुनेश्वर पेठे, लक्ष्मी सावरकर, महेंद्र भांगे, राकेश बोरीकर, रविनिश पांडेय, सुफ़ि टायगर, अनिल बोकडे, प्रणय जांभुलकर, संजय तिवारी, राहुल पांडेय, रिजवान अंसारी, राजेश माटे, संदीप मेंढे, विशाल खरे, विजय गावंडे, सैय्यद शहबाज़, आदित्य भोयर, रुद्र धाकडे, विश्वजीत सावडिया, आयूष लोणारे, शनि अंसारी, तुषार सिंग भाटी, संकेत शेंडे, सुनीता खत्री, ज्योति मेश्राम, सुकेशनी नागनवरे, शितल निंबडे, संजय आवले, प्रफुल पेंदाम, पुनिष ठाकरे, शुभम नारंजे, आकाश डोंगरे, रोहित पाटिल, शुभम बाबूलकर, अनमोल मुदलियार, राजू जनबंधु, संकेत शेंडे शामिल थे.