चीन का मेट्रो ट्रेन कोच करार रद्द करो

  • जय जवान जय किसान संगठन ने की मांग

नागपुर. जय जवान जय किसान संगठन ने चीन द्वारा भारतीय सैनिकों के साथ सीमा पर खूनी झड़प करने का विरोध करते हुए शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि की, साथ ही मांग की कि नागपुर में मेट्रो रेल प्रकल्प में जो चीन का कोच तैयार हो रहा है उस आर्डर को रद्द किया जाए. संगठन अध्यक्ष प्रशांत पवार ने कहा कि केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने चीन से आयात होने वाली वस्तुओं पर आयात कर बढ़ाने की नीति की जानकारी दी है, उन्होंने कहा कि चीन के प्रोडक्ट को भारत में प्रवेश बंदी की यह शुरुआत है.

वहीं केन्द्रीय मंत्री रामदास आठवले ने चीन प्रोडक्ट पर पूरी तरह बंदी की अपील की है. पवार ने कहा कि नागपुर में दौड़ने वाली मेट्रो ट्रेन में कोच चीन में तैयार हो रहा है. अगर सरकार को सही अर्थों में शहीद जवानों को श्रद्धांजली देनी है तो चीन निर्मित कोच के आर्डर को तुरंत रद्द किया जाए. केन्द्र व राज्य सरकार चीन के खिलाफ सख्त उठाएं, केवल जनता से चीन की वस्तुओं का उपयोग नहीं करने की अपील करने से काम नहीं चलेगा.

चीन कंपनी से किया करार
पवार ने कहा कि हाल ही महाराष्ट्र सरकार ने चीन कंपनी के साथ करार कर राज्य में उद्योग शुरू करने का निर्णय लिया है. इंजीनियरिंग फर्म हेंगली ने तलेगांव फेज-2 में 250 करोड़ का प्रकल्प प्रस्तावित किया है . इसी तरह आटोमोबाइल क्षेत्र में काम करने वाली पीएमआई कंपनी के साथ तलेगांव में दूसरा बड़ा 9000 करोड़ रुपे का प्रकल्प लाने का करार हुआ है. सत्ता में बैठे लोग एक ओर चीन से करार कर रहे हैं और दूसरी ओर चीन के उत्पादों के आयात पर बंदी की घोषणाबाजी कर रहे हैं. यह दोगलापन बंद कर कड़ा निर्णय सरकारों को लेना चाहिए तभी शहीद जवानों को सच्ची श्रद्धांजली होगी.