Complaint to CM, MLA Thackeray demands action

  • विधायक ठाकरे ने की अंबाझरी में पेड़ों की कटाई और भवन गिराने की जांच की मांग

नागपुर. कांग्रेस विधायक विकास ठाकरे ने पालक मंत्री नितिन राऊत से अंबाझरी उद्यान में 100 से अधिक पेड़ों की कटाई और डॉ. बाबासाहब आंबेडकर सांस्कृतिक भवन गिरा दिए जाने के मामले की जांच कर दोषियों पर कार्रवाई की मांग की है. उन्होंने कहा कि उद्यान व भवन निर्माण के लिए मनपा ने बीते 40 वर्षों में करोड़ों रुपये खर्च किए हैं लेकिन पूरे परिसर को राजस्व विभाग को मनपा ने वापस कर दिया. राजस्व विभाग ने 44 एकड़ जगह पार्यटन विकास महामंडल को दे दी.

ठाकरे ने सवाल उठाया कि यह किसके कहने पर किया गया. पर्यटन महामंडल ने 30 वर्ष के लिए यह परिसर लीज पर गरुड़ा एम्यूजमेंट पार्क कंपनी को नाममात्र दर पर दे दिया. इस कंपनी ने अपने फायदे के लिए उद्यान के 100 से अधिक पेड़ों को बिना अनुमति काट दिया और सांस्कृतिक भवन को गिरा दिया. ठाकरे कहा कि यह गरुड़ा कंपनी किसकी है और उसे फायदा पहुंचाने के लिए संबंधित विभागों और मनपा के कौन-कौन से अधिकारी व लोग शामिल हैं, इसकी जांच होनी चाहिए. 

मिला संदेहास्पद जवाब

ठाकरे ने कहा कि एमटीडीसी के अधिकारियों से जब पूछा गया कि इमारत गिराने की अनुमति किसके कहने पर दी गई तो बताया गया कि आंधी-बारिश से इमारत गिर गई. अधिकारियों का जवाब संदेहास्पद है. दाल में कुछ बड़ा काला होने अंदेशा है. उन्होंने पालक मंत्री से इस  मामले की जिलाधिकारी के माध्यम से समिति गठित कर पेड़ों की कटाई, परिसर में आग लगाने, इमारत गिराने की घटना की जांच करने की मांग की है. सबंधित ठेकेदार, एमटीडीसी के अधिकारी पर फौजदारी कार्रवाई की जाए. साथ ही गरुड़ा एम्यूजमेंट पार्क कंपनी के साथ किए गए करार को रद्द किया जाए. अंबाझरी उद्यान जनता के लिए खुला करें और सांस्कृतिक भवन का निर्माण कंपनी से करवाया जाए.