Nitin Raut

नागपुर. पूर्व ऊर्जा मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले द्वारा कृषि पंप कनेक्शन के मुद्दे पर विदर्भ व मराठवाड़ा के साथ अन्याय किये जाने के आरोपों पर कड़ा आक्षेप जताते हुए ऊर्जा मंत्री नितिन राऊत ने पलटवार किया है. उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि अगर सही जानकारी नहीं है तो बावनकुले घर में आराम करें. राज्य में किसी भी क्षेत्र के साथ महाविकास आघाड़ी सरकार अन्याय नहीं करेगी.

बावनकुले ने एक दिन पूर्व ही सरकार पर यह आरोप लगाया था कि कृषि पंप कनेक्शन के लिए 2800 करोड़ रुपये शेष महाराष्ट्र को दे दिये गए और विदर्भ व मराठवाड़ा को इसमें से एक भी कनेक्शन देने का प्रावधान नहीं किया गया. उनका आरोप था कि विदर्भ से नागपुर के ही ऊर्जा मंत्री होने के बावजूद राऊत ने इसका विरोध नहीं किया. राऊत ने पलटवार करते हुए कहा कि बावनकुले को अगर सही जानकारी नहीं है तो वे घर पर आराम करें.

एचवीडीएस स्कीम में 100 फीसदी ग्रांट
राऊत ने बताया कि हाई वोल्टेज डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम (एचवीडीएस) स्कीम को 2 पार्ट में विभक्त किया गया है. राज्य सरकार इसके लिए 100 फीसदी अनुदान देगी. विदर्भ-मराठवाड़ा के लिए 2250 करोड़ रुपये मंजूर हुए हैं जिसमें 771 करोड़ रुपये मिल भी गए हैं. एडीबी से लोन सेंक्शन भी हो गया है और बाकी भी जल्द मिलेगा. उन्होंने बताया कि शेष महाराष्ट्र के लिए 2800 करोड़ भी पूरा लोन लेना पड़ेगा जो मंजूर हो गया है. राज्य सरकार ने इसकी गारंटी ली है. सरकार व पंजाब नेशनल बैंक के बीच एग्रीमेंट हो रहा है, फिर लोन वितरित होगा. उन्होंने कहा कि राज्य भर में चाहे वह विदर्भ हो, मराठवाड़ा या शेष महाराष्ट्र का कोई भी क्षेत्र, किसानों के साथ यह सरकार कभी अन्याय नहीं करेगी.

5 वर्ष में क्या किया
राऊत ने पूर्व ऊर्जा मंत्री बावनकुले पर करारा सवाल दागा है. उन्होंने कहा कि 5 वर्ष सत्ता में रहे, ऊर्जा मंत्री पद पर रहे. इन 5 वर्षों में क्या किया वे बताएं. अगर उन्होंने अच्छा कार्य किया तो फिर पार्टी ने दूसरी बार उन्हें मौका क्यों नहीं दिया. राऊत ने तीखा प्रहार करते हुए कहा कि जिनकी पार्टी में इज्जत नहीं वे दूसरों को अपना काम करने दें और खुद घर पर बैठ कर आराम करें.