Congress, Kisan Adhikar Diwas

  • संविधान चौक पर किया आंदोलन

नागपुर. केन्द्र सरकार के बिते दिनों पारित किये गए किसान कानून के खिलाफ शहर व ग्रामीण कांग्रेस ने संयुक्त रूप से संविधान चौक पर सत्याग्रह आंदोलन किया. सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती और इंदिरा गांधी की पुण्य तिथि के निमित्त हुतात्मा दिन और किसान अधिकार दिवस के निमित्त केन्द्र सरकार के किसान व कामगार विरोधी कानून का विरोध सत्याग्रह के माध्यम से किया गया.

विधायक व शहर अध्यक्ष विकास ठाकरे और ग्रामीण अध्यक्ष राजेन्द्र मूलक के नेतृत्व में बड़ी संख्या में पदाधिकारी व कार्यकर्ता शामिल हुए. ठाकरे ने कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार ने तीन काला कानून बनाकर देश के माटीपुत्रों को व्यापारियों का गुलाम बनाने का रास्ता साफ कर दिया है. यह सरकार व्यापारियों और उद्यमियों की सरकार है. किसान, गरीब, मजदूर, कामगार और वंचितों के हितों से इस सरकार को कोई लेनादेना नहीं है.

काला कानून रद्द हो

मूलक ने कहा कि जब तक किसानों को तबाह करने वाला यह काला कानून भाजपा सरकार रद्द नहीं करती तब तक कांग्रेस उसका तीव्र विरोध करती रहेगी. कांग्रेस हमेशा ही किसानों व कामगारों के साथ खड़ी रही है और आगे भी उनके हित के लिए साथ खड़ी रहेगी. इस अवसर पर नाना गावंडे, अभिजीत वंजारी, अतुल कोटेचा, प्रशांत धवड, संजय महाकालकर, दिनेश बानाबाकोडे, पंकज थोरात, पंकज निघोट, वैभव काले, निखिल धांदे, गज्जू यादव, संजय मेश्राम, भीमराव कडू, अनिल पाटिल उपस्थित थे.

वहीं शहर कमेटी कार्यालय में आयोजित सत्याग्रह में गजराज हटेवार, मनोहर तांबुलकर, महेश श्रीवास, उमेश शाहू, चंद्रकांत बडगे, अब्दुल शकील, मोतीराम मोहाडीकर, किशोर गजभिये, संजय गभने, सुनील अग्रवाल, अभय रणदिवे, इरशाद मलिक, सरफराज खान, हफीज खान पठान, मतीन अंसारी, विजया ताजने, प्रकाश ढगे, जॉन थॉमस, सुनील ढोले, दिनेश पारेख, राजाभाऊ चिलाटे, मो. रफीक, प्रवीण गवरे, राजेश खानोरकर, सुरेन्द्र राय, आशीष पवार, राकेश वैद्य उपस्थित थे.