देश में सबसे महंगा पार्किंग एयर पोर्ट पर, RTI में खुलासा, मनमाना रेट तय करते हैं ठेकेदार

    नागपुर.  देश में नागपुर एयरपोर्ट में पार्किंग की दरें संभवत: सबसे अधिक हैं. इसके आधे दरों पर मुंबई, दिल्ली, कोलकाता में पार्किंग हो जाती है. एयरपोर्ट अथॉरिटी आफ इंडिया (एएआई) द्वारा संचालित अधिकांश एयरपोर्ट में पार्किंग की दरें तय की हुई हैं और यह काफी कम हैं. लेकिन नागपुर में निजीकरण का भरपूर लाभ उठाया जा रहा है.

    यही कारण है कि नागपुर में पार्किंग से सालाना करोड़ों रुपये की आय होती है. यह जानकारी आरटीआई में मांगी गई जानकारी में सामने आई है. महज 5 मिनट 1 सेकंड होने पर 120 रुपये का भुगतान वाहन धारकों को करना पड़ता है. इसके अलावा सहूलियत के लिए भी अलग से भुगतान करना पड़ता है क्योंकि नागपुर में ही कनविनियंस शुल्क वसूल किया जाता है.

    आईटीआई के जरिए संजय थूल ने एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया से जानकारी मांगी थी कि किन-किन एयरपोर्ट पर दरें क्या-क्या हैं. इस पर जानकारी दी गई कि एएआई की ओर से शहर के श्रेणी के हिसाब से दरें तय की जाती हैं. चेन्नई, कोलकाता में कोच, बस और ट्रक के लिए पार्किंग शुल्क 50 रुपये है, जबकि अन्य 4 पहिया वाहनों का पार्किंग शुल्क 30 रुपये और टूव्हीलर का 20 रुपये है.

    ग्रुप ए, बी और सी शहरों में दरें इससे भी कम हैं. वहीं नागपुर में 5 मिनट तक फ्री का फंडा है और 5 मिनट से 1 सेकंड भी ज्यादा हो गया तो 120 रुपये का शुल्क वसूल किया जाता है. पार्किंग शुल्क भी 80 रुपये के आसपास है. 

    कनविनियंस चार्ज का नया फंडा

    थूल ने बताया कि देश के किसी भी एयरपोर्ट पर कनविनियंस चार्ज वसूल नहीं किया जाता है. केवल नागपुर एयरपोर्ट ही ऐेसा है जहां पर कनविनियंस शुल्क के नाम पर वसूली हो रही है. यही कारण है कि कैब करने पर लोगों को तगड़ा झटका लगता है. कोई भी कैब सेवा लेने पर भाड़े के साथ 70 रुपये का कनविनियंस शुल्क लगाया जाता है जो कहीं से भी न्यायसंगत नहीं है. इतने में वाहन को पार्क किया जा सकता है. नागपुर एयरपोर्ट पर ठेकेदार की मनमानी के आगे सभी झुके हुए हैं. यात्रियों के साथ बड़े पैमाने पर लूट हो रही है और कोई कुछ नहीं कह रहा. 

    5 वर्ष का करार

    थूल को मिहान इंडिया लि. (एमआईएल) ने बताया है कि ठेकेदार के साथ 5 वर्षों का करार है. इसलिए वे अभी कुछ नहीं कर सकते हैं. करार खत्म होने के बाद नई दरों पर विचार किया जा सकता है. 

    AAI एयरपोर्ट पर पार्किंग शुल्क

    वाहन नागपुर चेन्नई, कोलकाता ग्रुप-ए एयरपोर्ट ग्रुप-बी ग्रुप-सी

    बस, कोच11050403020

    अन्य सभी वाहन 40 40 30 20 20

    टूव्हीलर 30 20 10 10 10

    नोट : तय शुल्क के अलावा टैक्सी कैब और ऑटो को कनविनियंस शुल्क क्रमश: 30 और 20 रुपये देना है.

    एयरपोर्ट पार्किंग से करोड़ों की आय

    पार्किंग शुल्क को लेकर हमेशा ही वाद-विवाद चलता ही रहता है. लोगों का आरोप है कि नागपुर में देश में सबसे अधिक पार्किंग शुल्क वसूला जा रहा है. आरटीआई में मिली जानकारी से यह भी पता चलता है कि नागपुर एयरपोर्ट में पार्किंग से करोड़ों रुपये की आय होती है. हालांकि चालू वित्त वर्ष में भारी गिरावट आई है. आरटीआई में मांगी गई जानकारी से पता चलता है कि पिछले 3 साल से पार्किंग शुल्क से 2.5 से 3 करोड़ रुपये से अधिक की  वसूली हो रही है. इस वर्ष वसूली महज 50 लाख रुपये तक रह गई है.

    वर्ष वसूली

    2016-17 91,42, 344

    2017-18 2,88, 38, 995

    2018-19 3,29,27,191

    2019-20 3,62,16,174

    2020-21 50,00,000