Bus car collision: five passengers killed, 25 injured

नागपुर. शुक्रवार की देर रात वर्धा रोड स्थित छत्रपति चौक पर सड़क दुर्घटना में एक युवक बूरी तरह से जख्मी हो गया. उसकी मदद करने जूटी भीड़ में से एक व्यक्ति ने 100 नंबर पर डायल किया. कंट्रोल रूम में ड्यूटी पर तैनात महिला कर्मचारी को पूरा पता बताने के बाद भी वह समझ नहीं पा रही थी. समस्या का समाधान करने के बजाए महिलाकर्मी फोन करने वाले से ही एरिया का थाना पूछने लगी. रात बे रात किसी भी व्यक्ति के साथ कोई भी हादसा हो सकता है.

ऐसे में पीड़ित सहायता के लिए पुलिस को फोन करता है. यदि ऐसी स्थिति में कंट्रोल रूम में बैठे कर्मचारियों को ही परिसर की जानकारी नहीं होगी तो पीड़ित को मदद कैसे मिलेगी. वर्धा रोड पर रात 10.08 बजे एक ट्रक ने युवक के टूव्हीलर को टक्कर मार दी. इसमें युवक बुरी तरह जख्मी हो गया.

वहां मौजूद एक व्यक्ति ने 100 नंबर पर संपर्क करने के बाद एम्बूलेंस के लिए 108 नंबर पर फोन किया. वहां बैठे कर्मचारी ने वर्धा रोड कौनसे जिले, कौनसा तहसील और शहर में आता है यह पूछने लगा. दोनों विभागों को घटना स्थल की पूरी जानकारी दे दी गई. 10.40 बज जाने के बाद भी घटना स्थल पर न तो पुलिस आई और न ही एम्बूलेंस. अंत: बेहोशी के हालत में एक मोटर साइकिल पर सवार 2 युवकों ने उसे अस्पताल पहुंचाया.