File Photo
File Photo

नागपुर. डाक्टरों का मानना है कि जब तक कोरोना वाइरस की वैक्सिन नहीं आ जाती तब सावधानी और सतर्कता से ही महामारी पर नियंत्रण किया जा सकता है, लेकिन त्योहारों के इस सीजन में लोगों की बेफिक्री और बढ़ गई है. न ही सोशल डिसटेंसिंग का पालन हो रहा है और न ही मास्क का उपयोग किया जा रहा है. यही वजह है कि दिसंबर में सेकेंड वेव की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता. इस बीच शनिवार को 19 मरीजों की मौत हो गई. इनमें सिटी के 7 और ग्रामीण के 5 मरीजों का समावेश रहा. इसके साथ ही अब तक जिले में कुल 3046 मरीजों की जान चली गई है.

चौबिस घंटे के भीतर 6060 लोगों की टेस्ट की गई. इसमें 369 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है. यह संख्या पिछले 2-3 महीने में सबसे कम है. इसके साथ ही जिले में अब तक कुल पाजिटिव मरीजों की संख्या 93424 हो गई है. अब तक 600237 लोगों की जांच की जा चुकी है.

वहीं फिलहाल जिले में 5593 एक्टिव केस मौजूद है. इनमें बिना लक्षण वाले अधिकांश मरीज घर पर ही इलाज करा रहे है. डाक्टरों का कहना है कि त्योहारों से सीजन में लोग खरीददारी सहित अन्य काम भले ही करे, लेकिन सोशल डिसटेंसिंग का पालन करे. मास्क लगाकर ही बाहर निकले. बार-बार हाथों को सेनेटाइज करते रहे. ताकी वाइरस के अटैक से बच सके.