corona

  • कम टेस्ट में भी ज्यादा संक्रमित मिलने से बढ़ा टेंशन

नागपुर. कोरोना संक्रमण को लेकर स्थिति विचित्र बनी हुई है. रविवार को 5,161 और सोमवार को भी 4,505 लोगों की ही जांच की गई थी. इन 2 दिनों के भीतर कुल 9,666 लोगों की जांच की गई जिनमें 575 पॉजिटिव मरीज मिले थे. वहीं मंगलवार को 4,972 लोगों की जांच में 515 पॉजिटिव मिले. एक ही दिन में 500 से अधिक संक्रमितों का आंकड़ा करीब 15 दिन बाद आया है. यही वजह है कि प्रशासन ने नागरिकों से सतर्क रहने की अपील की है.

पिछले दिनों से पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 500 के भीतर ही रह रहा था. हालांकि इस बीच मौत के आंकड़े बढ़े हैं, लेकिन संक्रमितों की कम संख्या से लग रहा था कि अब जिले में जल्द ही कोरोना पर नियंत्रण किया जा सकता है. लेकिन कम लोगों की जांच में भी 515 पॉजिटिव मिलने से एक बार फिर टेंशन बढ़ने जैसी नौबत आ गई है.

बताया जा रहा है कि अब भी कई लोग लक्षण दिखने के बाद भी टेस्ट कराने से कतरा रहे है. केवल वृद्ध और विविध बीमारियों से ग्रसित लोग ही पहले टेस्ट को प्राथमिकता दे रहे हैं. अब तक जिले में कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 1,12,280 हो गई है. वहीं मंगलवार को 9 मरीजों की मौत हो गई. इनके साथ ही अब तक मरने वालों का आंकड़ा 3,681 तक पहुंच गया है. मंगलवार को विविध अस्पतालों में भर्ती 399 मरीजों को ठीक होने के बाद छुट्टी गई. इस तरह अब तक कुल 1,03,566  मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं. 

एक्टिव केस भी बढ़े

फिलहाल जिले में कुल 5033 एक्टिव केस है. इनमें से करीब आधे मरीज होम आइसोलेशन में हैं. जबकि आधे विविध अस्पतालों में उपचार ले रहे हैं. डॉक्टरों की मानें तो 15 दिसंबर के बाद एक बार फिर जिले में मरीजों की संख्या में वृद्धि हो सकती है. यही वजह है कि बीमारी से बचने के लिए सावधानी और सतर्कता ही सबसे जरूरी है. लेकिन वर्तमान में हर जगह भीड़ बढ़ने लगी है. बाजारों में देखकर लगता है कि अब लोगों में कोरोना को कोई डर नहीं रह गया है, क्योंकि लोग भले ही मास्क लगाएं हों, लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग का भी ध्यान नहीं रख रहे हैं. यही स्थिति आने वाले दिनों में भारी पड़ सकती है.