Kovid-19: 128 new cases of infection in Andhra Pradesh, 3,245 total infected

कोरोना मरीजों की संख्या कम होने की बजाय बढ़ती ही जा रही है. गुरुवार की मध्यरात्रि बजरिया की जिस युवती की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी, वह मेयो में जनरल वार्ड में भर्ती थी.

नागपुर. कोरोना मरीजों की संख्या कम होने की बजाय बढ़ती ही जा रही है. गुरुवार की मध्यरात्रि बजरिया की जिस युवती की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी, वह मेयो में जनरल वार्ड में भर्ती थी. इससे बीमारी अन्य मरीजों में भी फैलने की संभावना बढ़ गई है. इस बीच शुक्रवार को एम्स की प्रयोगशाला में 2 नये मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई है. इसके साथ ही सिटी में अब तक 409 लोगों को वायरस ने अपनी चपेट में ले लिया है.

जिस तरह से मरीजों की संख्या बढ़ रही है, उतनी ही तेजी से रिकवर भी हो रहे हैं. केवल उन्हीं लोगों को ज्यादा खतरा है जिन्हें अन्य बीमारियां पहले से ही है, जबकि कई मरीजों में तो लक्षण भी नहीं दिख रहे हैं. लक्षण नहीं दिखने की वजह से डॉक्टरों द्वारा सामान्य मरीजों की तरह ही उपचार किया जा रहा है. शुक्रवार को जिन 2 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई वे मोमिनपुरा के रहने वाले हैं. दोनों को क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया था. इनकी उम्र क्रमश: 17 व 18 वर्ष है. दोनों के परिजनों में भी कोरोना का संक्रमण पाया गया है. इसके साथ ही अब तक मोमिनपुरा में कुल 185 लोगों में संक्रमण हुआ है. यानी सिटी में कोरोना के करीब आधे मरीज अकेले मोमिनपुरा में मिले हैं. यही वजह है कि अब तक समूचे क्षेत्र को सील ही रखा गया है. केवल आवश्यक सेवाएं ही शुरू हैं.

10 को मिली छुट्टी
शुक्रवार को मेडिकल से 7 लोगों को छुट्टी दी गई. इनमें बाबा फरीदनगर का एक मरीज है, जबकि 5 मोमिनपुरा तकिया और एक मरीज चंद्रपुर का रहने वाला है. इसी तरह मेयो से 3 मरीजों को छुट्टी दी गई. इनमें 2 सतरंजीपुरा और 1 मोमिनपुरा निवासी है. सभी को अगले कुछ दिनों तक होम क्वारंटाइन रहने की सलाह दी गई है. शुक्रवार को एम्स की प्रयोगशाला में 123 नमूनों की जांच की गई. बताया गया कि प्रशासन द्वारा अधिकाधिक लोगों के नमूने लिए जा रहे हैं ताकि बीमारी के बारे में पहली स्टेज में पता चलाया जा सके. अन्य प्रयोगशालाओं में भी यही स्थिति बनी हुई है.

रिकवरी में सिटी अव्वल
कोरोना बाधित मरीजों पर प्रभावी व परिणामकारक उपचार की वजह से देश में सर्वाधिक रिकवर होने वाले नागपुर में ही हैं. जिले में 409 मरीजों में से 322 को अब तक छुट्टी दी जा चुकी है. मरीजों के ठीक होने का प्रमाण भारत में 40.4 प्रतिशत है. वहीं राज्य में 26.3 प्रतिशत है. इस तुलना में जिले की स्थिति देशभर में सबसे अच्छी है. सिटी की 5 प्रयोगशालाओं में अब तक 9,818 स्वैब की जांच की गई. दुनिया में कोरोना बाधितों के स्वस्थ होने का प्रमाण सर्वाधिक जर्मनी में है. यहां 87.9 प्रतिशत मरीज ठीक हुए. इसी तरह इटली 53.3 प्रश, फ्रान्स 34.9 प्रश, अमेरिका 23.3 प्रश, रशिया 27.7 प्रश है.

अब तक की सिटी में स्थिति

– 02 शुक्रवार को नये पॉजिटिव

– 409 कुल पॉजिटिव

– 07 अब तक मौत

– 322 कुल ठीक हुए मरीज

– 1,733 कुल क्वारंटाइन

– 400 होम क्वारंटाइन