CP Amitesh Kumar

  • थानेदारों को सुनाई खरी-खरी

नागपुर. पुलिस जिम खाना में सोमवारी को आयोजित अपराध समीक्षा बैठक में सीपी अमितेश कुमार का पारा गरम होने की जानकारी मिली है. शहर में चल रहे अवैध धंधों के कारण क्राइम बढ़ रहा है. इस बात पर नाराजगी जताते हुए सीपी ने थानेदारों को सभी अवैध धंधे बंद करवाने का अल्टीमेटम दिया है. खरी-खरी सुनाते हुए सीपी ने अधिकारियों को चेतावनी दी कि यदि अवैध धंधे शुरु मिले तो सभी कार्रवाई के लिए तैयार रहे. बैठक में बाल्या बिनेकर की हत्या का मामला गर्माया रहा.

बाल्या के जुआ अड्डे होने की जानकारी मिलने के कारण सीपी ने अधिकारियों से जवाब तलब किया. उन्होंने कहा कि किसी भी थाना क्षेत्र में एक भी अवैध धंधा शुरु नहीं रहना चाहिए. फिर चाहे वो जुआ क्लब हो या सट्टापट्टी. अवैध शराब के अड्डों के कारण ही ज्यादातर आपराधिक वारदातें होती है. इसीलिए सभी धंधे तुरंत बंद होने चाहिए. यदि उन्हें किसी भी धंधे की जानकारी मिली तो संबंधित अधिकारी को जिम्मेदार माना जाएगा.

शहर का एक भी अपराधी पुलिस की निगरानी से दूर नहीं रहना चाहिए. जिन्हें शहर में रहना है वो ठीक रहे. यदि कोई भी अपराधी छोटे से छोटे मामले में सक्रिय दिखा तो उसपर सख्त कार्रवाई की जाए. सभी हिस्ट्री शीटरों का रिकार्ड खंगालकर प्रतिबंधक कार्रवाई करने के आदेश उन्होंने दिए.

कब हटाए जाएंगे अधिकारी?
क्राइम ब्रांच के रिपिटर कर्मचारियों को तो सीपी ने हटा दिया. थाने में भी अपना कार्यकाल पूरा कर चुके कर्मचारियों के तबादले किए गए. जिस तरह से मनचाही जगह पर सीपी ने तबादले किए उसकी तारीफ भी कर्मचारियों ने की, लेकिन अधिकारियों के तबादले अब तक नहीं किए गए है.

क्राइम ब्रांच में कई अधिकारी 2 वर्ष से ज्यादा समय निकाल चुके है. कई थानों में डीबी स्क्वाड के प्रमुख वर्षों से बने हुए है. अधिकारियों की सांठ-गांठ से भी इंकार नहीं किया जा सकता. कर्मचारियों पर तो क्विक एक्शन हो गया, लेकिन अधिकारी लंबे समय से एक ही तैनाती पर बने हुए है.