6 वर्षों में मानकापुर फ्लाईओवर पर दरार

  • 60 दिनों के लिए आधी सड़क बंद

नागपुर. निर्माण के बाद 6 वर्षों में ही मानकापुर फ्लाईओवर पर एक गहरी दरार आ गई है. राष्ट्रीय राज्य मार्ग प्रधिकरण ने इस दरार को भरने का काम शुरू कर दिया है. इसके चलते मानकापुर से कोराड़ी की ओर जाने वाले फ्लाईओवर पर बैरिकेड लगाकर आधी सड़क को बंद कर दिया है. दरार काफी बड़ी होने के कारण इसे भरने के लिए एनएचएआई ने मरम्मत तक आधे र्माग की यातायात को बंद करने के लिए ट्रैफिक डीसीपी को अनुमती मांगी गई है. सदर फ्लाईओवर से मध्यप्रदेश के बैतुल शहर तक 178 किलोमीटर तक एनएचएआई ने फोर लेन हाईवे का निर्माण किया है. मानकापुर फ्लाईओवर इसका एक हिस्सा है. मानकापुर से बैतुल तक 1,800 करोड़ रुपय की लागत के साथ फ्लाईओवर और हाईवेक का निर्माण कर वर्ष 2014 में इसे जनता के लिए खोल दिया गया था.

2 स्लैब तोड कर बनाएगे

एनएचएआई के संबंधित अधिकारी ने बताया कि प्रत्येक महामार्ग की बारिकी से जांच की जाती है. मानकापुर फ्लाईओवर की जांच की गई, जिसमें पता चला कि उसके स्लैब में गहरी दरार है. इस बात को गंभीरता से लेते हुए ठेकेदार को इसकी जानकारी दी गई. कंस्ट्रक्शन कम्पनी को फ्लाईओवर की 2 स्लैब को दोबारा बनाने के आदेश दिये गए. कम्पनी ने स्लैब को बनाने का काम शुरू कर दिया है. ठेकेदार को दूसरे हिस्से के भी जांच के लिए कहा गया था. दूसरी ओर किसी भी प्रकार की कोई दरार नहीं दिखाई दी. एनएचएआई ने फ्लाईओवर के मूल्यांकन और सुधार कार्य में एक विशेष एजंसी का जूटा दिया है.  

अंडर पास को भी किया बंद

फ्लाईओवर पर बैरिेकेड लगाकर स्लैब तोडने का काम शुरू हो चुका है.  इसके अलावा अंडर पास को मरम्मत होने तक पूरी तरह सील कर दिया है. दिक्कत यह है कि सुबह से शाम तक इस मार्ग पर वाहनों की भारी मात्रा में आवाजाही रहती है. फ्लाईओवर पर चल रहे निर्माण कार्य को देखते हुए भारी वाहनों को पुलिया पर चढ़ने की अनुमती नहीं दी जानी चाहिए. मानकापुर से कोराड़ी की ओर जाने वाले फ्लाईओवर के आधे हिस्से पर मरम्मत कार्य जारी होने के कार यातायात का दबाव आधे मार्ग पर रहेगा. ऐसे में इसपर से भारी वाहनों की यातायात होना बड़े हादसे को न्यौता देने के बराबर हो सकता है.  

रोड डिवाइडर हटाया

सदर ट्रैफिक ज़ोन के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अनुमति देने के लिए प्रक्रिया जारी है. अस्थायी उपाय के रूप में, फ्लाईओवर (कोराडी से मनकापुर की ओर) की लेन का उपयोग दो तरफा यातायात के लिए किया जाएगा.  एनएचएआई ने मनकापुर की तरफ से आने वाले वाहनों की सुचारू आवाजाही सुनिश्चित करने के लिए झिंगाबाई ताकली की तरफ फ्लाईओवर की लैंडिंग से रोड डिवाइडर को हटा दिया है.