156 corona disrupted growth in 24 hours, 3 dead

नागपुर. यह सच है कि सितंबर की तुलना में कोरोना से मरने और संक्रमित होने वालों की संख्या कम हुई है, लेकिन उम्मीद के अनुरुप मरीज कम होते नहीं दिखाई दे रहे हैं. कोरोना पर नियंत्रण तभी माना जाएगा जब मृत्यु दर कम होगी.  लेकिन अब भी हर दिन 20 से अधिक मरीजों की मौत हो रही है. बुधवार को एक बार फिर 29 मरीजों की मौत हो गई. इनमें जिले के 20 और अन्य जिलों के 9 मरीजों का समावेश रहा. इस तरह अब तक कुल 2869 मरीजों की मौत हो चुकी है. 

डाक्टर भी मान चुके है कि कोरोना का प्रभाव जल्दी खत्म नहीं होने वाला है. लेकिन प्रशासन द्वारा मृत्यु दर कम किये जाने की दिशा में प्रयास तो किये जा रहे है, लेकिन अब भी प्रयासों को ज्यादा सफलता मिलती नजर नहीं आ रही है. हालांकि सितंबर की तुलना में मृतक कम जरुर हुये है, लेकिन अब भी खतरा बना हुआ है, यही वजह है कि कोरोना से बचने के लिए सावधानी और सतर्कता ही सबसे जरुरी हो गई है. बुधवार को सिटी के 11 और ग्रामीण के 9  तथा जिले से बाहर के 9 मरीजों सहित कुल 29 मरीजों की मौत हो गई. 

होम आयसोलेशन में ज्यादा 
बुधवार को 609 नये मरीज मिले. इनमें सिटी के 403 और ग्रामीण के 197 मरीजों का समावेश रहा. इनमें से अधिकांश लोगों में लक्षण कम पाये गये हैं. गंभीर लक्षण वालों को अस्पतालों में भर्ती किया गया. जबकि कम लक्षण वाले घरों में रहकर ही इलाज करा रहे हैं.फिलहाल जिले में 7416 एक्टिव केस मौजूद है. इनमें अधिकांश मरीज होम आयसोलेशन में है. बुधवार को चौबिस घंटे के भीतर 5428 लोगों की जांच की गई. इसमें सबसे अधिक 2353 एंटिजन टेस्ट का समावेश रहा. बुधवार को 743 मरीजों को छुट्टी दी गई. इस तरह अब तक कुल 78214 मरीजों को छुट्टी दी जा चुकी है. इस वजह से रिकवरी रेट 88.38 फीसदी तक पहुंच गया है. 

सिटी में आज तक की स्थिति 

88499 कुल संक्रमित 

2869 की मौत 

78214 हुये ठीक