हेल्थ पोस्ट के लिए निर्धारित करें जगह, महापौर ने 3 दिनों का दिया अल्टीमेटम

  • 75 हेल्थ पोस्ट करने है तैयार

नागपुर. महापौर के रूप में पदभार स्वीकार करने के बाद शहर के प्रति जवाबदेही में स्वास्थ्य सेवाओं को सक्षम बनाने की दिशा में अलग-अलग हिस्सों में 75 अस्पतालों का निर्माण करने की घोषणा महापौर दयाशंकर तिवारी ने की थी. जिसे अब वास्तविक रूप देने के उद्देश्य से हेल्थ पोस्ट के लिए जगह निर्धारित करने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग को दिए. साथ ही नेशनल अर्बन हेल्थ मिशन के प्रस्ताव 3 दिनों के भीतर तैयार करने का अल्टीमेटम भी दिया.

हेल्थ पोस्ट शुरू करने के लिए गुरुवार को महापौर ने स्वास्थ्य विभाग सहित संबंधित विभागों के अधिकारियों की बैठक ली. महापौर मनीषा धावडे, स्थायी समिति सभापति पिंटू झलके, वीरेन्द्र कुकरेजा, राम जोशी, मिलिंद मेश्राम, डॉ. नरेन्द्र बहिरवार, डॉ. संजय चिलकर, डॉ. विजय जोशी उपस्थित थे.

जनसंख्या के आधार पर हो सर्वे

चर्चा के दौरान महापौर ने कहा कि शहर के जिन हिस्सों में अधूरी स्वास्थ्य व्यवस्था है. जिन हिस्सों में स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध ही नहीं हो पाए, वहां जनसंख्या के आधार पर सर्वे किया जाना चाहिए. जिससे हेल्थ पोस्ट शुरू करने में आसानी होगी. महापौर ने कहा कि इस प्रकल्प को गंभीरता से लेना है. जिससे 3 दिनों के भीतर प्राथमिक जानकारी के साथ तैयार रहना होगा. जिससे 18 जनवरी को होनेवाली बैठक में इससे आगे बढ़ा जा सकेगा. उन्होंने कहा कि शहर के सीमावर्ती क्षेत्रों के पार्षदों से भी जगह के संदर्भ में मत लिया जाना चाहिए. 

उपचार के खर्च में होगी कमी

उन्होंने कहा कि हेल्थ पोस्ट के निर्माण से गरीब तथा सामान्य लोगों के स्वास्थ्य से संबंधित आवश्यकताएं पूरी करने तथा उपचार के लिए लगनेवाला खर्च कम होने में मदद मिलेगी. गति से बढ़ रही शहर की जनसंख्या की तुलना में स्वास्थ्य सेवा को लेकर खड़ी चुनौती का सामना करने के लिए हेल्थ पोस्ट काफी सहयोगी साबित होगा. पुरानी वार्ड रचना की तर्ज पर यंत्रणा तैयार करने की सूचना भी अधिकारियों को दी. उन्होंने कहा कि शहर में एम्बुलेन्स जननी सुरक्षा सेवा सभी लोगों को उपलब्ध हों, इसके लिए छोटे चौपहिया वाहन का उपयोग किया जाना चाहिए. इस तरह के छोटे वाहन उपयोग करने से घनी बस्ती में रहनेवाले लोगों को भी लाभ होगा. मरीज के घर के सामने एम्बुलेन्स पहुंच सकेगी.