Tope

  • स्वास्थ मंत्री टोपे ने दिये निर्देश

नागपुर. स्वास्थ मंत्री राजेश टोपे ने कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए मेडकल हास्पिटल में बेड की संख्या बढ़ाकर 1000 करने का निर्देश दिया है. वे गृहमंत्री अनिल देशमुख के साथ मेडिकल में कोरोना मरीजों के लिए व्यवस्था का जायजा लेने पहुंचे थे. यहां हुई बैठक में उन्होंने कोविड मरीजों के लिए बेड बढ़ाने का निर्देश डीन को दिया.

फिलहाल मेडिकल में कुल 1700 बेड की व्यवस्था है जिसमें से कोरोना के मरीजों के लिए हास्पिटल प्रबंधन से 600 बेड की विशेष व्यवस्था कोरोना वार्ड बनाकर की हुई है. टोपे ने बैठक में कहा कि जिस तेजी से मरीजों की संख्या बढ़ रही है उसे देखते हुए मेडिकल में बेड की संख्या 1000 होनी चाहिए. उन्होंने 400 बेड और बढ़ाने का निर्देश अधिकारियों को दिया है.

किसी भी हालत में बेड मिले
टोपे ने कहा कि नागपुर सहित संपूर्ण विदर्भ से बड़ी संख्या में कोरोना के मरीज नागपुर मेडिकल में भी आ रहे हैं. ऐसे में कोई भी गंभीर मरीज बेड की अनुपलब्धता के चलते वापस नहीं जाना चाहिए, उन्हें तत्काल बेड उपलब्ध होना चाहिए व उपचार शुरू होना चाहिए. इसके लिए कोविड बेड की संख्या तत्काल बढ़ाने का निर्देश उन्होंने दिया. उनके साथ गृहमंत्री अनिल देशमुख, अन्न व औषधि मंत्री डा. राजेंद्र शिंगणे, प्रकाश गजभिये, विभागीय आयुक्त संजीव कुमार, मनपा आयुक्त राधाकृष्णन बी और मेडिकल के डीन डा. सजल मित्रा, अन्य वरिष्ठ डाक्टर्स उपस्थित थे. टोपे ने चिकित्सकीय व्यवस्था, दवाओं की उपलब्धता, आक्सीजन की स्थिति, बेड की उपलब्धता व समस्या पर ध्यान देने का निर्देस दिया. उन्होंने कहा कि जरूरत स्टाफ की भर्ती कांटेक्ट तत्व पर करें.

दवाओं की कमी नहीं होगी
अन्न व औषधि प्रशासन मंत्री राजेंद्र शिंगणे ने कहा कि रेमडिसीवर दवा की कमी नहीं होने दी जाएगी. उन्होंने कहा कि इस दवा का लेकिन अनावश्यक उपयोग नहीं होना चाहिए. अनावश्यक उपयोग के चलते दवा की मांग बढ़ गई है. उन्होंने कहा कि दवा की कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने आक्सीजन की कमी नहीं होने देने का आश्वासन भी दिया.

एडवांस जमा करवाने वाले निजी अस्पतालों पर कार्रवाई
मेडिकल के निरीक्षण के पूर्व मंत्रियों ने विभागीय आयुक्त कार्यालय में बैठक ली. टोपे ने चेतावनी दी कि कोविड मरीजों को भर्ती करने के लिए एडवांस वसूली करते तक इलाज अटकाने वाले निजी अस्पतालों के खिलाफ शिकायत मिलते ही कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

इस बैठक में पशुसंवर्धन मंत्री सुनील केदार, जिप अध्यक्ष रश्मि बर्वे, महापौर संदीप जोशी, सांसद कृपाल तुमाने, विकास कुंभारे, समीर मेघे, विभागीय आयुक्त संजीव कुमार, विशेष पुलिस महानिरीक्षक चिरंजीव प्रसाद, जिप मुख्य कार्यकारी अधिकारी योगेश कुंभेजकर, मनपा आयुक्त राधाकृष्णन बी., पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार, सुधाकर शिंदे, अर्चना पाटील, आईएमए अध्यक्ष संजय देवतले, अर्चना कोठारी उपस्थित थे. उन्होंने टेस्टींग व कान्टैक्ट ट्रेसिंग बढ़ाने का निर्देश दिया.

उन्होंने कहा कि जिले में जांच की गति धीमी है इसलिए 70 फीसदी एंटीजेन और 30 फीसदी आरटीपीसीआर टेस्ट और बढ़ाने का निर्देश दिया. उन्होने मृत्युदर 1 प्रतिशत से कम पर लाने के लिए उपाययोजना करने की जरूरत बताई. गृहमंत्री अनिल देशमुख ने होम क्वारंटाइन मरीजों के लिए टेलिमेडिसीन उपचार पद्धति तत्काल शुरू करने का निर्देश दिया.