electricity bill
File Photo

    नागपुर. महावितरण तुलसीबाग उप विभाग की ओर से बिजली बिल बकायेदारों के खिलाफ कड़ा अभियान शुरू किया गया जिसके चलते 24 ग्राहकों की बिजली खंडित करने की कार्रवाई की गई. इसके साथ ही 2 जगहों पर बिजली चोरी भी पकड़ी गई. कड़े पुलिस बंदोबस्त का साथ यह कार्रवाई की गई. किल्ला, दसरा रोड, मटन मार्केट इलाके में पुलिस बंदोबस्त के साथ महावितरण की टीम ने कार्रवाई की. 10 ग्राहकों पर 4.46 लाख रुपये लंबे समय से बकाया था. उनकी बिजली सेवा खंडित कर दी गई.

    वहीं 14 ऐसा ग्राहक जिन पर 21.97 लाख रुपये बकाया था उनकी स्थायी रूप से बिजली खंडित करने की कार्रवाई की गई. कार्रवाई के दौरान 3 ग्राहकों ने 1.02 लाख रुपये जमा किये. वहीं दो ग्राहकों की आकस्मिक जांच में बिजली चोरी करते पकड़ा गया. उनका सर्विस केबल निकाल दिया गया. प्रादेशिक संचालक व मुख्य अभियंता रंगारी के मार्गदर्शन में यह कार्रवाई कोतवाली थाना पुलिस उप निरीक्षक व टीम ने की.

    व्यापक वसूली के निर्देश

    इधर महावितरण की विषम आर्थिक स्थिति को देखते हुए संचालक भालचंद्र खंडाईत ने नागपुर परिमंडल की समीक्षा बैठक ली. उन्होंने कहा कि कोरोना काल में भी कंपनी ने ग्राहकों को अंखंडित सेवा दी लेकिन इस काल में घरेलू, कमर्शियल, औद्योगिक और कृषि ग्राहकों के बिल का बकाया काफी बढ़ गया है. जिसके चलते महावितरण की आर्थिक हालत खस्ता हो गई है.

    उन्होंने नियोजबद्ध तरीके से बकाया बिल वसूली अभियान चलाने के निर्देश दिये. साथ ही हिदायत ही है कि बिल जमा नहीं करने वालों के खिलाफ बिजली खंडित करने की कार्रवाई करें. उन्होंने ग्राहकों से भी अपील की है वे नियमित बिजली बिल का भुगतान करें. बकायेदार कार्रवाई से बचने के लिए बकाया जमा करें. बैठक में नागपुर परिमंडल के मुख्य अभियंता दिलीप दोडके, ग्रामीण मंडल के अधीक्षक अभियंता नारायण आमझरे, अधीक्षक अभियंता अमित परांजपे, वर्धा के अधीक्षक अभियंता डॉ. सुरेश वानखेडे सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे.