ज्यादा बारिश से संक्रमण की अवधि भी बढ़ेगी

  • डॉक्टरों का अनुमान सावधानी अब भी जरूरी

नागपुर. इस बार मानसून समय पर आने की संभावना व्यक्त की गई है. जून के दूसरे सप्ताह से ही बारिश ने हाजिरी लगाना शुरू कर दिया है. इसका मतलब है कि बारिश पूरे 4 महीने तक होगी. अच्छी बारिश होने से एक ओर जहां पर्यावरण सहित किसानों को भी लाभ होगी, वहीं दूसरी ओर संक्रमण की अधिक दिनों तक रहेगा. यही वजह है कि कोरोना काल में डॉक्टरों ने लोगों को सतर्क रहने और स्वास्थ्य के प्रति सावधानी बरतने की अपील की है.

विशषेज्ञों ने कोरोना की तीसरी लहर की संभावना व्यक्त की है. जुलाई मध्य के बाद फिर से कोरोना संक्रमण फैलने की संभावना है. डॉक्टरों का मानना है कि बारिश के दिनों में संक्रामक बीमारियां तेजी से फैलती है. इस सीजन में सर्दी, जुकाम, डायरिया, गेस्ट्रो आम बीमारी हो जाती है. लेकिन पिछले वर्ष की तरह ही इस बार भी कोरोना ने साथ नहीं छोड़ा है. यही वजह है कि बारिश में खास सावधानी बरतना भी आवश्यक है. इन दिनों अनलॉक के साथ ही लोगों की बेफिक्री बढ़ी है. बिना मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग की एक बार धज्जियां उड़ाई जा रही हैं. जबकि अगले कुछ महीनों तक मास्क का साथ नहीं छोड़ना है.

सबसे कम 81 पाजिटिव मिले

इस बीच जिले में पिछले चौबीस घंटे के भीतर 8,296 लोगों की जांच की गई. इसमें केवल 81 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है. पिछले पांच महीने में सबसे कम संक्रमित लोग मिले हैं. इसके साथ ही अब तक जिले में कुल संक्रमितों की संख्या 4,76,007 हो गई है. वहीं 6 मरीजों की मौत हो गई. इसके साथ ही अब तक कुल 8,973 लोगों की जान वायरस ले चुका है. इस बीच 389 मरीज ठीक हुये. फिलहाल जिले में रिकवरी रेट 97.50 फीसदी तक पहुंच गया है. इस माह के अंत तक मरीजों की संख्या और कम होगी. अब तक जिले में 28,79,916 लोगों की जांच पूरी हो चुकी है.