Singapore's Hindu Religion Board will take tough steps to keep a special eye on gold jewelery, this is the reason
Representative Image

    नागपुर. मां को कोरोना होने का झांसा देकर 2 ठग युवकों ने एक व्यापारी को 4.50 लाख रुपये में नकली सोना बेच दिया. एमआईडीसी पुलिस ने रमाबाई आंबेडकरनगर, जयताला निवासी सुभाष नत्थू वाघमारे (60) की शिकायत पर मामला दर्ज किया है. सुभाष मिर्ची का व्यापार करते हैं. जयताला के आखिरी बस स्टाप के समीप उनकी दूकान है. 30 अप्रैल की सुबह 10 बजे के दौरान वे अपनी दूकान पर बैठे थे. इसी दौरान 20 से 25 उम्र के 2 युवक दूकान के पास बैठकर रोते दिखाई दिए. सुभाष ने उनसे रोने का कारण पूछा. आरोपियों ने बताया कि उनकी मां को कोरोना हो गया है.

    वोक्हार्ट अस्पताल में उपचार चल रहा है, लेकिन अब अस्पताल का बिल भरने के लिए पैसे नहीं हैं. उनके पास सोने के पुश्तैनी जेवरात हैं लेकिन लॉकडाउन के चलते सराफा की सभी दूकानें बंद हैं. कोई मदद करने को भी तैयार नहीं है. आरोपियों ने सुभाष को सोने के मणी की बड़ी माला होने की जानकारी दी और कहा कि कुछ दिन के लिए पैसे उधार दे दो. बाद में जेवरात बेचकर उन्हें उधार दी गई रकम के अलावा 50,000 रुपये देंगे. आरोपियों ने माला में से 4 मणी निकालकर सुभाष को जांच के लिए दिए. उनके घर का पता मांग लिया. सुभाष ने परिचित सराफा व्यापारी से मणी की जांच करवाई और असली सोना होने का पता चला.

    2 मई की दोपहर 12 बजे के दौरान आरोपी सुभाष के घर पर पहुंचे. लाखों रुपये की सोने की माला के बदले 6 लाख रुपये मांगे. सुभाष को भी लालच आ गया. उन्होंने माला के बदले 4.50 लाख रुपये देने की बात कही. आरोपी सरलता से मान गए. सुभाष से 4.50 लाख रुपये लेकर आरोपी फरार हो गए. शाम को सुभाष ने माला की जांच करवाई तो पीतल की होने का पता चला. उन्होंने मामले की शिकायत एमआईडीसी पुलिस से की. पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर जांच आरंभ की है.