Surgical Gloves
File Photo

  • औरंगाबाद पुलिस ने की कार्रवाई
  • 25,000 से 3,00,000 रुपयों में 268 को दिए प्रमाणपत्र

नागपुर. संपूर्ण राज्य में खलबली मचाने वाले फर्जी क्रीड़ा प्रमाणपत्र घोटाले में औरंगाबाद पुलिस की स्थानीय अपराध शाखा ने और 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है़ इस मामले में जवाहरनगर थाने सहित मानकापुर थाने में भी मामला दर्ज किया गया. इसके बाद मानकापुर पुलिस सहित स्थानीय अपराध शाखा ने भी अब मामले की जांच शुरू कर दी है.

जांच के दौरान 4 आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़े़ गिरफ्तार आरोपियों में निलंबित क्रीड़ा अधिकारी भावराव रामदास वीर (52), सेवानिवृत्त क्रीड़ा उपसंचालक राजकुमार दत्तात्रेय महादवाड, सिंचाई विभाग का क्लर्क शंकर शामराव पतंगे और एजेंट अंकुश प्रल्हाद राठोड़, पारेगांव, तह. जालना का समावेश है. ये चारों ट्रंपोलिन और टंबलिन खेल के राज्य और राष्ट्रीय स्तर की स्पर्धा के प्रथम क्रमांक प्राप्त करने के फर्जी प्रमाणपत्र देने का काम कर रहे थे. सभी आरोपियों को न्यायालय ने पुलिस कस्टडी सुनाई.

प्राप्त जानकारी अनुसार आरोपियों ने राज्य के विविध युवाओं को ट्रंपोलिन और टंबलिन खेल के राज्य स्तरीय और राष्ट्रीय स्पर्धा में शामिल होकर पहला क्रमांक हासिल करने के फर्जी प्रमाणपत्र तैयार करके बेचे थे. 25,000 से 3,00,000 रुपयों में आरोपियों ने कुल 268 लोगों को फर्जी प्रमाणपत्र दिए थे.