Citizens troubled by bad settlements, mud, dirt in division 3

    • मूलभूत सुविधाओं के लिए भी तरस रहे लोग 

    नागपुर. कलमना का प्रभाग-4 आज भी सड़क, स्वास्थ्य, पेयजल आदि मूलभूत सुविधा से वंचित है. यहां के नागरिकों को आज भी इन सुविधाओं के लिए नगरसेवकों से मिन्नतें करनी पड़ती हैं लेकिन इसके बाद भी उनकी समस्याओं का समाधान नहीं हो पा रहा है. स्थानीय निवासियों ने बताया कि 15 साल से मनपा में भाजपा के नगरसेवक सत्ता में हैं लेकिन फिर भी इस प्रभाग का विकास आज तक नहीं हो पाया है. उन्होंने कहा कि समय-समय पर अधिकारियों का आना-जाना लगा रहता है किन्तु अब तक उनके द्वारा दिए गए आश्वासन पर ही लोग उम्मीद लगाए हुए हैं.

    जनप्रतिनिधि एवं प्रशासनिक उपेक्षा का शिकार इस गांव की सड़क अब नालीनुमा होने लगी है. इतना ही नहीं, झाड़ी, जंगल और बड़े-बड़े गड्ढों से रास्ता घिर जाने से अब तो इस क्षेत्र में आवाजाही करने के लिए पगडंडी जैसे रास्तों का सहारा लेना पड़ता है. वहीं पीने के पानी के लिए अभी टैंकर का ही सहारा है. नल की सप्लाई भी घरों में नहीं हुई है.

    गटर लाइन से पानी सड़कों और घरों के सामने बह रहा है. नजारा किसी पिछड़े गांव से कम नहीं लगता लेकिन इसके बाद भी समस्याओं का कोई हल नहीं निकाला जा रहा है. उत्तर नागपुर शिवसेना के भू.पू. विभाग प्रमुख किसन प्रजापति, शाखा प्रमुख प्रफुल्ल जामुनपाने, अरुण गवले, छगन भोंगाडे, नंदू बालपांडे ने भी अपनी समस्याओं को बताया.

    लोगों ने बताई अपनी समस्याएं

    पक्की सड़क तक नहीं 

    एक ओर सरकार सुदूर ग्रामीण इलाकों तक विकास की रोशनी पहुंचाने को लेकर बड़े बड़े दावे करती है, वहीं जमीनी हकीकत कुछ और ही बयां कर रही है. कलमना प्रभाग-4 में सड़क, बिजली, पानी, स्वास्थ्य सेवा जैसी मूलभूत सुविधाओं का घोर अभाव है. एक ओर जहां सुदूर ग्रामीण इलाकों को मुख्य सड़क से जोड़ने के लिए युद्धस्तर पर निर्माण कराए जा रहे हैं, वहीं कलमना प्रभाग-4 के लोगों को अब तक पक्की सड़क नसीब नहीं हुई है.- शशिकांत प्रजापति

    बिजली के खंभे तक नहीं 

    इस प्रभाग में रहने वाले लोग काफी दयनीय जीवनयापन करने पर मजबूर हो गए हैं. प्रभाग में बिजली के खंभे, सड़कें तक नहीं हैं. न्यू लक्ष्मीनगर, दशरथनगर, चित्रशालानगर, पार्वतीनगर, शनि मंदिर क्षेत्र समेत मिलाकर कुल 25 बस्तियां हैं जहां पर आज भी विकास की जरूरत है. बारिश के दिनों में लोगों को सबसे ज्यादा परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. बारिश का पानी सड़कों पर भरा रहता है. लेकिन आज तक इसका समाधान नहीं निकल सका है.- प्रफुल्ल जामुनपाने

    नगरसेवक हुए फेल

    इस क्षेत्र के रहवासियों ने कहा कि आम जनता की समस्याओं को सुलझाने में बीजेपी के स्थानीय नगरसेवक असफल सिद्ध हुए हैं. उन्हें जनता की समस्याओं से कोई लेना- देना नही है. बीजेपी की एनएमसी सरकार पूरी तरीके से फेल हुई है. आने वाले समय में यहां की जनता नगरसेवकों से इसका हिसाब भी लेगी. विकास के नाम पर जीत हासिल करने वाले नगरसेवकों के खिलाफ लोगों में काफी आक्रोश है.