Bank fraud

    नागपुर. एक नामी बैंक में मैनेजर के पद पर नौकरी दिलाने के नाम पर 7 लाख रुपये की धोखाधड़ी का मामला लकड़गंज थाने में दर्ज किया गया. आरोपी अशोक लेआउट, अमरावती रोड निवासी गौरव अशोक उके (26) और अशोक शेषराव उके (63) बताए गए. दोनों पिता-पुत्र हैं.

    प्राप्त जानकारी के अनुसार, क्वेटा कॉलोनी निवासी विक्रम दिलीप रतनानी (30) नौकरी की तलाश में थे. इसी दौरान उनका संपर्क गौरव से हुआ. गौरव ने उसे बताया कि वह कोटक महिन्द्रा बैंक में ह्यूमन रिर्सोसेस पद पर है. वह चाहे तो गौरव को बैंक में मैनेजर के पद पर नौकरी दिला सकता है लेकिन इसके लिए से रिश्वत देनी पड़ेगी.

    गौरव के पिता अशोक ने भी विक्रम को झांसे में लेना शुरू कर दिया. दोनों ने मिलकर 13 महीनों में विक्रम से कुल 7 लाख रुपये की रकम ऐंठ ली. इसके बाद आरोपियों ने विक्रम को एक ईमेल भेजा जिसमें नकली ज्वानिंग लेटर था. अपने साथ हुई धोखाधड़ी का पता चलते ही विक्रम ने पुलिस में पिता-पुत्र के खिलाफ मामला दर्ज कराया. जांच जारी है.