Bhandewadi Dumping Yard Fire

नागपुर. भांडेवाड़ी इलाके के डंपिंग यार्ड में शुक्रवार तड़के 5 बजे भीषण आग लग गई. इसके पहले भी डंपिंग यार्ड में कई बार आग लग चुकी है. इस बार आग की भयावहता को देखते हुए आसपास की बस्तियों में रहने वाले नागरिकों में दहशत का माहौल है. दमकल विभाग की 12 से 15 गाड़ियों ने घटनास्थल पहुंचकर आग पर काबू पा लिया है. बावजूद इसके देर रात तक कचरे में से जहरीला धुआं उठ रहा है. भांडेवाड़ी डंपिंग यार्ड पिछले कई वर्षों से नागरिकों के लिए मुसीबत बन गया है. आग से निकलने वाले धुएं से आसपास के सभी परिसरों में दुर्गंध फैल गई है. इसी के साथ लोगों को सांस लेना तक मुश्किल हो गया है, लेकिन प्रशासन लोगों की समस्या पर कोई गंभीर कदम उठाने की बजाय हाथ पर हाथ धरे बैठा है. यह डंपिंग यार्ड वह जगह है, जहां शहर से निकलने वाला सारा कचरा डंप किया जाता है.

अब तक की सबसे बड़ी आग
दमकल विभाग के अधिकारी चापरे से मिली जानकारी के अनुसार आग लगने की सूचना मिलने पर पहले विभाग के कुछ वाहनों को घटनास्थल पर रवाना किया गया. परिसर में देर रात तक दमकल विभाग के कर्मचारी आग बुझाने में जुटे रहे. पिछले महीने में परिसर के 2 एकड़ में आग लगी थी, लेकिन इस बार की आग परिसर के हर कोने में फैल चुकी है. बता पाना मुश्किल है कि कितना परिसर जल कर खाक हो गया है. सूचना मिलने के बाद सिटी के 5 स्टेशनों से अग्निशमन वाहनों को छोड़ा गया है. करीब 8 से अधिक वाहन परिसर में लगी आग को बुझा रहे हैं. आग इतनी भीषण है कि उसके उठते धुएं से 8 फुट के आगे देख पाना मुश्किल हो गया है. गर्मी, धुआं, बदबू और श्वानों के बीच दमकल विभाग के कर्मचारी आग बुझाने का काम कर रहे हैं.

जेसीबी से खोद कर डाल रहे पानी
उन्होंने बताया कि दोपहर तक कचरों के ऊपर लगी आग को तो बुझा लिया गया, लेकिन आग अंदर तक फैल चुकी है. इसलिए कर्मचारियों को आग बुझाने में दिक्कत हो रही है. अंतत: जेसीबी की मदद से खोद कर अंदर की आग को भी बुझाने का प्रयास किया जा रहा है. बताया जा रहा है कि जब भी इस तरह की आग लगती है, तब कचरे के ढेर के नीचे से सुलगती हुई आग आगे बढ़ती है. उसके बाद यह आग अंदर ही अंदर धधकते हुए आगे बढ़ती है. लपटों को देखते हुए आसपास की बस्तियों में रहने वाले नागरिकों में दहशत है कि कहीं यह आग उनके आशियाने तक न पहुंच जाए.

25 मई को मनपा का घेराव
शिवसेना के गौरव गुप्ता ने बताया कि परिसर में आग कल शाम 4 बजे लगी थी. उसके बाद उन्होंने उद्यान विभाग के अधिकारी को इसकी सूचना दी. 2 दमकल गाड़ियों से पानी की बौछार कर आग को बुझा लिया गया, लेकिन अंदर में आग भड़कते रही. आग बुझी समझकर सब वहां से चले गए. शुक्रवार की सुबह से ही आग ने भीषण रूप धारण कर लिया. सूरजनगर, संघर्षनगर, पवनशक्ति नगर, अंतोजीनगर, चांदमारी आदि कई घनी बस्तियां हैं जिससे लोगों के जान-माल का खतरा हमेशा बना रहता है. मनपा प्रशासन द्वारा व भाजपा के नगरसेवक, विधायक, सांसद किसी की तरफ से ध्यान नहीं दिया जा रहा है. डम्पिंग यार्ड स्थानांतरित करने के लिए दिनांक 25 मई को शिवसेना के पूर्व नागपुर विभाग प्रमुख योगेश नायखोर, गौरव गुप्ता, रूपेश बागड़े के नेतृव में मनपा का घेराव किया जायेगा.