fraud

नागपुर. एमआईडीसी थानांतर्गत जादू-टोने से इलाज के नाम पर 43,000 रुपये की ठगी का मामला सामने आया है. आरोपी महिला का नाम शबाना सौदागर बताया गया जो वानाडोंगरी स्थित शालिनी मेघे हॉस्पिटल के सामने रहती है.

मिली जानकारी के अनुसार, दीपकनगर, काटोल निवासी माया भीमराव फुलमाली (60) का बेटा नितिन (36) अक्सर बीमार रहता था. लंबे समय तक इलाज कराने के बाद भी इसकी तबीयत में सुधार न होता देख उसके पिता भीमराव को किसी ने शबाना का नाम बताया. उन्हें बताया कि शबाना जादू-टोने से लाइलाज बीमारियों का भी इलाज कर देती है. अपने जवान बेटे की बीमारी से परेशान माया उसके पास गई.

शबाना ने उसे झांसे में लेकर जादू-टोने से पूजा-पाठ के नाम पर पहले 40,000 रुपये और फिर 3,000 रुपये और वसूले. इसके बाद उसने पूजा करके माया को राख दी और 25,000 रुपये की मांग की. शबाना ने माया से कहा कि वह जानती है कि उसके घर में पैसा रखा है और यदि वह यह पैसा देगी तो उसे चमत्कार दिखाया जायेगा.

43,000 रुपये खर्च करने के बाद भी अपने बेटे के स्वास्थ्य में कोई असर नहीं होने के बाद शबाना द्वारा और 25,000 रुपये की मांग पर माया को ठगी की बात समझ आई. उसने तुरंत एमआईडीसी थाने में शिकायत की. पुलिस ने जादू-टोना प्रतिबंध अधिनियम समेत विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी.