Frauds filed against leaders who issued fake checks in aid funds

नागपुर. अजनी थाना क्षेत्र में एक बार फिर गैंगवार शुरु होने का खतरा मंडरा रहा है. एक बार यहां खून-खराबा शुरु हुआ तो सिलसिला रुकने का नाम नहीं लेता. रविवार की रात रंजिश के चलते न्यू कैलाशनगर के 2 अपराधियों की गैंग ने एक-दूसरे पर हमला किया. पुलिस ने दोनों गुटों के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

कैलाशनगर निवासी विक्की अनिल परेसरकर (28) और ओल्ड बाबुलखेड़ा निवासी सौरभ विलासराव अडलक (30) के बीच लंबे समय से विवाद चल रहा है. दोनों पर भी हत्या, मारपीट, हत्या का प्रयास सहित गंभीर मामले दर्ज है. रविवार रात 8.45 बजे के दौरान विक्की अपने घर के पास खड़ा था.

इसी दौरान सौरभ अपने 2 साथियों के साथ वहां पहुंचा. लोहे की रॉड से विक्की पर हमला किया. विक्की बचने के लिए अपने घर की छत पर चढ़ गया. आरोपी भी उसके पीछे छत पर गए. बचने के लिए विक्की ने छत से नीचे छलांग लगा दी. तभी सौरभ और उसके साथी भाग निकले. अपने ऊपर हुए हमले से विक्की बौखलाया हुआ था.

रात 12 बजे के दौरान अडलक परिवार भोजन करके घर के सामने बैठा था. इसी दौरान विक्की और उसके 7-8 साथियों ने हमला बोल दिया. सौरभ घर पर नहीं था. डर के मारे अडलक परिवार घर के भीतर भागा. विक्की और उसके साथियों ने घर पर पथराव शुरु कर दिया. सौरभ को जान से मारने की धमकी देकर आरोपी फरार हो गए.

इस घटना के बाद परिसर में गैंगवार शुरु होने की आशंका जताई जा रही है. पुलिस सौरभ के खिलाफ मोका और एमपीडीए के तहत कार्रवाई कर चुकी है. जेल से छूटकर आने के बाद से परिसर में उसकी दादागिरी ज्यादा बढ़ गई थी. वहीं विक्की भी हत्या का आरोपी रह चुका है. उसकी गैंग का भी परिसर में दबदबा रह चुका है.