Bogus doctor's fake degree seized, police searched the hospita
Representational Pic

नागपुर. सेना से निवृत्त वैद्यकीय अधिकारी रीना न्यूटन को विदेश में नौकरी दिलाने का झांसा देकर ठगने वाली नाइजेरियन ठगों की गैंग में गोवा की महिला का भी समावेश है. आरोपियों के लेन-देन उसी महिला के खाते से होते थे. पकड़ी गई आरोपी महिला माजोर्डा, साउथ गोवा निवासी सायरा जोशरॉबर्ट अल्वारिस (49) बताई गई. इस मामले में साइबर पुलिस ने 11 अक्टूबर को दिल्ली से नाइजेरियन ठग मिशेल स्कॉट्स कोलाई (23), इंदू डॉलर उकेके (32), इमू संडे अजुडाइके (32), केल्विन नेके (29) और सुजीत दिलीप तिवारी (25) को गिरफ्तार किया था. सायरा को 8 नवंबर तक पुलिस हिरासत में रखने के आदेश न्यायालय ने दिए है.

फेसबुक पर डॉन मोरेर के नाम से फर्जी आईडी बनाकर आरोपियों ने रीना को 42 लाख रुपये का चूना लगाया था. जिस खाते में रीना ने पैसे ट्रांस्फर किए थे वह सायरा के नाम पर था. उसके खाते में 21.30 लाख रुपये जमा किए गए थे. पुलिस ने सायरा के घर की तलाशी ली तो 15 बैंक खाते होने की जानकारी मिली. उसी के नाम पर आरोपियों ने मोबाइल नंबर भी एक्टिवेट करवाए थे.

3 मोबाइल फोन पुलिस ने जब्त किए. जांच में पता चला कि इस गैंग ने गुजरात, पटियाला और हरयाणा में भी लोगों को चूना लगाया है. वहां अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मामले भी दर्ज है. इन सभी मामलों का लेन-देन भी सायरा के ही खाते से किया गया था. डीसीपी विवेक मासाल के मार्गदर्शन में इंस्पेक्टर अशोक बागुल और राघवेंद्र क्षीरसागर मामले की जांच कर रहे है.

सतर्क रहें नागरिक

पुलिस ने नागरिकों से सतर्क रहने की अपील की है. सोशल मीडिया में अपरिचित लोगों से अपनी निजी जानकारी शेयर करने से बचे. ठगों की गैंग सोशल मीडिया के जरिए लोगों से संपर्क बनाती है. उन्हें विदेश में नौकरी दिलाने और गिफ्ट भेजने सहित तरह-तरह के झांसे देकर लाखों रुपये का चूना लगाती है. इसीलिए सोशल मीडिया पर अपनी निजी जीवन से जुड़ी जानकारी डालने से बचे. कोई भी बैंक या कंपनी का अधिकारी आपसे ओटीपी नहीं पूछता. अपना ओटीपी किसी के भी साथ शेयर न करें. यदि इस प्रकार से किसी के साथ ठगी हुई हो तो साइबर पुलिस स्टेशन के नंबर 0712-2566766 पर संपर्क करें.