Nagpur-Jabalpur broad gauge
File Photo

  • CRS का इंतजार, घटेगी सिटी से उत्तर भारत की दूरी

नागपुर. बहुप्रतिक्षित गोंदिया से जबलपुर के बीच ब्राडगेज रेल रूट का काम पूरा हो गया. भूतपूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा घोषित इस परियोजना को पूरा होने में 19 वर्ष का लंबा समय लग गया. रेल अधिकारियों की मानें तो निर्माण पूरा हो चुका है, हालांकि 15 किमी ट्रैक का विद्युतीकरण बाकी है. यह काम भी काफी तेजी से पूरा किया जा रहा है. उम्मीद जताई जा रही है कि जल्द ही जल्द ही इस ट्रैक के कुछ हिस्सों का कमिश्नर रेल सेफ्टी निरीक्षण करेंगे. इस रूट पर ट्रेन शुरू होते ही नागपुर से उत्तर भारत की दूरी काफी कम हो जायेगी और यात्रियों का समय बचेगा.

2004 से शुरू हुआ था काम

ज्ञात हो कि इस परियोजना को 7 चरणों में पूरा किया गया है. वर्ष 2001 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा इस परियोजना का शिलान्यास किया गया था. तब इस परियोजना की कुल लागत 511 करोड़ रुपये थी. वर्ष 2004 से 2014 तक काम अटका रहा. वर्ष 2014 में वन एवं पर्यावरण संबंधी समस्या बताकर इस परियोजना को लटका दिया गया.  लेकिन 2015 में निर्माण कार्य ने गति पकड़ी और अब इसे पूरा कर लिया गया. हालांकि परियोजना की लागत 511 करोड़ रुपये से बढ़कर 1,700 करोड़ रुपये हो गई. 

घटेगा यात्रा का समय

ज्ञात हो कि गोंदिया से जबलपुर के बीच 285 किमी के इस ब्राडगेज रूट नागपुर और उत्तर भारत के बीच यात्रियों के करीब 4 से 5 घंटे का समय बचेगा. वर्तमान में नागपुर के यात्रियों को इटारसी से जबलपुर होते हुए उत्तर भारत जाना पड़ता है. इसमें जबलपुर तक ही यात्रियों को 9 से 10 घंटे, कभी-कभी तो 12 घंटे तक का समय लगता है, लेकिन गोंदिया होते जबलपुर जाने में 3 से 4 घंटे का समय बचेगा. ट्रेन की गति के अनुसार यह समय कम भी हो सकता है. 

मालगाड़ी का हो चुका है ट्रायल

7 चरणों में पूरे की इस परियोजना के अधिकांश हिस्से का सीआरएस निरीक्षण हो चुका है. साथ ही मालगाडी का ट्रायल भी लिया गया है. 15 अगस्त को समनापुर से लामटा के बीच मालगाडी का पहला ट्रायल किया गया था. यहां मालगाडी पहले लामठा और फिर समनापुर पहुंची थी. इसके बाद 23 अगस्त को डीजल लोको पश्चिम मध्य रेल जोन के निरीक्षण कार से लामटा से नैनपुर के बीच विद्युतीकरण का निरीक्षण किया गया था. इसके बाद नैनपुर से लामटा के बीच इलेक्ट्रिक इंजन से इलेक्ट्रिफिकेशन स्पीड का भी ट्रायल लिया जा चुका है.