Bawankule
File Photo

नागपुर. पूर्व पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले ने नागपुर सहित संपूर्ण विदर्भ में कोरोना पर नियंत्रण नहीं कर पाने के लिए सरकार के नकारापन को दोष दिया है. उन्होंने कहा कि नागपुर, अमरावती, अकोला, खामगांव, वाशीम जिलों में कोरोना के हजारों मरीज रोज मिल रहे हैं. अनेकों की मौत हो रही है बावजूद इसके एक भी मंत्री का ध्यान इस ओर नहीं है. सरकार अपने नकारापन का परिचय दे रही है. उन्होंने आरोप लगाया कि विदर्भ को अपने हाल पर छोड़ दिया गया है. उपाययोजना के लिए कोई समीक्षा बैठक तक नहीं ली गई.

सीएम और डीसीएम सिर्फ मुंबई और पुणे पर ही ध्यान दे रहे हैं. वे भूल गए हैं कि वे पूरे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री व उपमुख्यमंत्री हैं. विदर्भ में कोरोना से निपटने के लिए अस्पतालों में पर्याप्त बेड नहीं, वेंटिलेटर नहीं, डाक्टर नहीं, स्टाफ नहीं, दवाओं की कमी है. आक्सीजन की कमी है लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है. ग्रामीण भागों में कोरोना उपचार की कोई सुविधा नहीं इसलिए अनेक पीड़ित लावारिसों की तरह मर रहे हैं. इतनी भयावह स्थिति बन गई है और यह नकारी सरकार चुपचाप बैठी हुई है.