Ticket hall made indoor parking, railway workers ruining nation's property
File Photo

    नागपुर. नागपुर से गुजरने वाली ट्रेनों में हुई चोरी की वारदातों के खिलाफ बेहतरीन जांच की गई. और आरोपियों को गिरफ्तार करने और माल बरामदगी में अव्वल रहने वाले लोहमार्ग पुलिस की स्थानिक अपराध शाखा और इतवारी थाने की टीम को जीआरपी की उप पुलिस महासंचालक डॉ. प्रज्ञा सरवदे के हाथों मुंबई में हुए कार्यक्रम में पुरस्कृत किया गया. इनमें एलसीबी टीम के 8 और इतवारी थाने के 5 अधिकारियों और पुलिसकर्मियों के नाम शामिल हैं. इनमें एलसीबी के पीआई विकास कानपील्लेवार के अलावा दीपक डोरलीकर, रविंद्र सावजी, अविन गजवे, विनोद खोब्रागडे, अमित त्रिवेदी, श्रीकांत धोटे और गिरीश राऊत के नाम है.

    वहीं, इतवारी जीआरपी थाने के एपीआई मुबारक शेख, एएसआई राजेश वरठे, पेंदोर, धम्मपाल गवई और दीप्ति बेंडे को पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया गया. सभी ने अपनी सफलता का श्रेय जीआरपी नागपुर के पुलिस अधीक्षक एम. राजकुमार और एएसपी शेंडे को दिया.

    दिल्ली से पकड़े 4 आरोपी

    पीआई कानपील्लेवार के मार्गदर्शन में दीपक डोर्लीकर और उनकी टीम ने वर्धा में हुई 3 बड़ी चोरियों के मामले में दिल्ली से 4 आरोपियों को गिरफ्तार अंतरराज्यीय चोर गैंग का पर्दाफाश किया. इसके साथ चुराया गया पूरे 10.16 लाख के सोने-चांदी के गहने भी बरामद किये. इस जांच में डोर्लीकर ने ट्रेनों में चोरी के चश्मदीद गवाह को ढूंढ निकाला जो संभवत: पहली बार हुआ था. 

    धरदबोची महिला चोरों की गैंग 

    वहीं आमतौर गुनमानी में खोई इतवारी जीआरपी ने इस बार एपीआई शेख के मार्गदर्शन में महिला चोरों की एक गैंग धरदबोची और ट्रेनों में चोरी के 8 मामलों का खुलासा किया. इनमें 2 मामले को करीब 2 वर्ष पूराने थे. इस पूरी जांच में शेख की टीम ने 7 आरोपियों के अरेस्ट किया. खास बात है कि इतवारी जीआरपी की टीम ने इन 8 वारदातों में चुराये गये 90 प्रतिशत माल की रिकवरी भी कर ली. इसी सफलता के लिए पूरी टीम को एडीजी सरवदे द्वारा पुरस्कार के माध्यम से सराहा गया.