योजनाओं का लाभ लेने फिर करनी पड़ेगी सिरदर्दी, विकलांगों को ऑनलाइन आवेदन करने की नई शर्त

    नागपुर. राज्य सरकार की ओर से विकलांगों के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं चलाई जाती हैं. इसमें मनपा के माध्यम से भी इन योजनाओं के लाभार्थियों की सूची तैयार कर राज्य सरकार के समाज विकास विभाग को भेजी जाती है. इसके अनुसार अब तक मनपा की ओर से प्राप्त आवेदनों को प्रेषित तो किया गया किंतु इन सभी आवेदनों को रद्द कर अब ऑनलाइन पद्धति से आवेदन करने की नई शर्त विकलांगों के लिए लागू की गई है.

    अब तक किए गए सभी आवेदनों को रद्द करने की घोषणा किए जाने से योजना का लाभ लेने के लिए फिर विकलागों को सिरदर्दी करने की नौबत आ गई है. मनपा की ओर से मुख्यालय में महापौर दयाशंकर तिवारी के हाथों ऑनलाइन पंजीयन का शुभारंभ किया गया. 

    त्रासदी से बचेंगे विकलांग 

    महापौर ने कहा कि विकलांगों के लिए लाई गई ऑनलाइन पद्धति से काफी राहत मिलेगी. विशेषत: कई तरह की त्रासदी से विकलांग बंधु बचेंगे. इसके पूर्व विकलांगों को हर समय पंजीयन के लिए मनपा कार्यालय आना पड़ता था. अब ऑनलाइन पद्धति होने से पंजीयन के लिए आने की आवश्यकता नहीं होगी. इसके अलावा पारदर्शिता होगी. अंतिम व्यक्ति तक योजनाओं का लाभ मिल सकेगा. योजना का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन पंजीयन अनिवार्य कर दिया गया है.

    प्रत्येक विकलांग तक इसकी जानकारी पहुंचाने के लिए समाज विकास विभाग को विभिन्न माध्यम से जनजागृति करने का सुझाव दिया. प्रत्येक जोन में समुदाय संगठक हैं. यदि ऑनलाइन पद्धति में किसी तरह की परेशानी हो रही हो तो समुदाय संगठक से मदद ली जा सकती है.

    विकलांग सुविधा केंद्र शुरू करें

    महापौर ने कहा कि मनपा के सभी जोनल कार्यालय में योजनाओं की जानकारी देने के लिए विकलांग सुविधा केंद्र शुरू किए जाएं. आशा वर्कर्स के माध्यम से भी योजनाओं की जानकारी विकलांगों तक पहुंचाई जानी चाहिए. प्रत्येक जोन कार्यालय में उन्हें छूट दी जानी चाहिए. साथ ही महा-ई-पोर्टल के माध्यम से भी सुविधा प्रदान की जानी चाहिए.

    उन्होंने कहा कि विकलांगों को दी जा रही आर्थिक मदद योजना में सुधार कर उसे सीधे बैंक से जोड़ा जाना चाहिए. इसके अलावा विकलांगों को ई-रिक्शा पर स्टाल लगाने की अनुमति देने की सूचना दी. यदि ई-रिक्शा पर स्टाल लगाने की अनुमति दी गई तो वे कहीं भी जाकर व्यवसाय कर सकेंगे. 

    मनपा की योजनाओं से अनेक वंचित : आयुक्त

    मनपा आयुक्त राधाकृष्णन. बी ने कहा कि विकलांग बंधुओं के उत्थान के लिए सरकार की विभिन्न योजनाएं हैं. इसके अलावा मनपा की ओर से भी कुछ योजनाएं चलाई जाती हैं किंतु कई लोगों को इसका लाभ नहीं मिल पाता है. ऑनलाइन पद्धति से सभी विकलागों को पंजीयन करना चाहिए. योजनाओं का लाभ लेते समय स्पर्धा होनी चाहिए. पंजीयन करने के लिए पार्षदों की मदद लेना अधिक सुविधाजनक होगा. एक बार पंजीयन करने पर सभी योजनाओं के लिए पंजीयन वैध रहेगा.