Court approves sacking of 12 Manpa employees, High Court validates Munde's decision

नागपुर. फर्जी इनपुट टैक्स क्रेडिट के नाम पर 420 करोड़ के हुए घोटाले में कथित आरोप सुनील हाईटेक इंजीनियरिंग लिमिटेड के संचालक सुनील गुट्टे के खिलाफ पंजाब स्थित भटिंडा में धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया. इस मामले को निरस्त करने की मांग को लेकर गुट्टे की ओर से हाई कोर्ट में याचिका दायर की गई. जिस पर सुनवाई के बाद न्यायाधीश सुनील शुक्रे और न्यायाधीश अविनाश घारोटे ने याचिका अधिकार क्षेत्र में नहीं आने का हवाला देते हुए राहत देने से इंकार कर याचिका ठुकरा दी. गुट्टे की ओर से अधि. श्रद्धानंद भुतडा, सिया ट्रेडिंग की ओर से अधि. आनंद परचुरे तथा पंजाब पुलिस की ओर से अधि. सौरभ चौधरी ने पैरवी की.

1.07 करोड़ की खरीदी

बताया जाता है कि मेसर्स सिया ट्रेडिंग के अजय गर्ग की शिकायत के अनुसार पंजाब स्थित भटिंडा पुलिस ने गुट्टे और अन्य के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया था. शिकायत के अनुसार गुट्टे ने वीएजी बिल्डटेक कम्पनी के व्यवस्थापकीय संचालक होने के नाम पर सिया ट्रेडिंग कम्पनी से समय-समय पर 1,07,77,262 रु. का स्टील और सीमेंट खरीदी किया.

जिसके बाद सिया ट्रेडिंग कम्पनी को 82.46 लाख रु. नहीं दिए. बताया जाता है कि गुट्टे फर्जी इनपुट टैक्स क्रेडिट मामले में भी आरोपी है. जिसमें जीएटी के खुफिया महासंचालनालय की ओर से भी कार्रवाई की गई है. एफआईआर रद्द करने के लिए दायर याचिका पर दोनों पक्षों की दलीलों को सुनने के बाद अदालत ने याचिका ठुकरा दी.