hospital
Representational Pic

  • जनता फाउंडेशन के अध्यक्ष काजी जिशान ने की कार्रवाई की मांग

नागपुर. मानकापुर स्थित मेडिकेयर हॉस्पिटल और मनपा के ऑडिटर की शिकायत जनता फाउंडेशन के अध्यक्ष काजी जिशान सिद्दीकी ने अतिरिक्त आयुक्त जलज शर्मा से की है. उन्होंने शिकायत में बताया कि किसी ने मेडिकेयर हॉस्पिटल के बिल को भेजा जिसमें अस्पताल द्वारा अवैध बिल बनाने की जानकारी मिली है. वेंटिलेटर, ऑक्सीजन, कंसल्टेशन, नर्सिंग सब चार्जेस मेडिकेयर हॉस्पिटल ने राज्य सरकार द्वारा तय की गई गाइडलाइन्स का उल्लंघन करते हुए लगाए हैं.

राज्य सरकार ने आईसीयू में वेंटिलेटर के साथ अधिकतम वसूले जाने की दर 9,000 रु. प्रतिदिन के हिसाब से तय की है और इसी दर में कंसल्टेशन चार्ज, नर्सिंग चार्ज का भी समावेश है फिर भी मेडिकेयर हॉस्पिटल द्वारा 12,500 रु. प्रतिदिन के हिसाब से बिल बनाया है और 28,000 रु. कंसल्टेशन चार्ज के लगाए गए. 14,000 रु. नर्सिंग चार्ज के लगाए गए जो की सरासर गैरकानूनी है. वहीं ऑक्सीजन सिलेंडर भी 3,000 रुपए के एक दिए गए. जिशान सिद्दीकी ने सभी दस्तावेजों को अतिरिक्त आयुक्त के सामने रखा और हॉस्पिटल और मनपा के ऑडिटर के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की. लाइसेंस भी रद्द करने की बात कही.

मनपा ने 872 मामलों में की है कार्रवाई

इसके पहले भी कोविड अस्पतालों की मनमानी के खिलाफ कार्रवाई करने और मेडिसन्स के नाम पर भी वसूली के खिलाफ शिकायत की जा चुकी है जिसके जवाब में अतिरिक्त आयुक्त जलज शर्मा ने पत्र भेजा था जिसमें बताया गया कि मनपा ने 872 मामलों में 1,78,54,892 रुपए की गड़बड़ी पकड़ी और 1,27,90,316 रुपए वापस दिलाए गए. जिशान ने मांग की है कि मनपा ऐसे हॉस्पिटल पर सख्त से सख्त कार्रवाई करें.