हावड़ा-अहमदाबाद एक्स. में पकड़ाए दुष्कर्म के फरार आरोपी, RPF-GRP की संयुक्त कार्रवाई

    नागपुर. झारखंड से नाबालिग से दुष्कर्म के आरोप में फरार 3 आरोपियों को दक्षिण-पूर्व-मध्य रेल नागपुर मंडल के रेलवे सुरक्षा बल और लोहमार्ग पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई में ट्रेन 02834 हावड़ा-अहमदाबाद एक्सप्रेस से धरदबोचा. आरोपियों के नाम राजेश भीम मंडल (20), राधेश्याम उर्फ लेखो लक्ष्मण मंडल (24) और विजय बिरजू मंडल (20) बताए गए हैं. तीनों ही सिरी, जिला देवघर (झारखंड) के निवासी हैं.

    जानकारी के अनुसार, आरपीएफ, गोंदिया के प्रभारी निरीक्षक नंदबहादुर को झारखंड पुलिस से सूचना मिली कि यह तीनों युवक किसी ट्रेन में सवार हैं और टाटानगर से गुजरात की ओर भाग रहे हैं. उन पर नाबालिग से दुष्कर्म का आरोप है. वॉट्सएप के माध्यम से आरोपियों की तस्वीरें साझा की गईं. तुरंत ही नागपुर में मंडल सुरक्षा आयुक्त पंकज चुघ को सूचित किया. उन्होंने गोंदिया स्टाफ के साथ एक टीम बनाई और सभी यात्री ट्रेनों की सघन तलाशी शुरू कर दी गई.

    ट्रेन 02834 के जनरल कोच में पकड़े गये

    इसी दौरान पहुंची ट्रेन 02834 हावड़ा-अहमदाबाद एक्सप्रेस की तलाशी ली गई. वहीं जीआरपी के उपनिरीक्षक प्रेम प्रदीप भी अपनी टीम के साथ तलाशी में जुट गये. इसी दौरान जनरल कोच डी-1 में तीनों आरोपी नजर आए. उन्हें ट्रेन से उतारकर एक बार फिर उनकी पहचान झारखंड पुलिस से पुख्ता कराई गई. झारखंड पुलिस की पुष्टि के बाद तीनों को गिरफ्तार कर लिया गया. पूछताछ में तीनों आरोपियों ने नाबालिग से दुष्कर्म का आरोप स्वीकार किया. इसके बाद जीआरपी के उप निरीक्षक प्रेम प्रदीप के सुपुर्द कर दिया गया. 

    टीम को मिला इनाम

    आरपीएफ, गोंदिया के इस गुडवर्क को देखते हुए मंडल सुरक्षा आयुक्त चुघ ने तत्काल ही 8,000 रुपये की संयुक्त प्रोत्साहन पुरस्कार की घोषणा की. यह कार्रवाई डीएससी चुघ और एएससी एसडी देशपांडे के मार्गदर्शन में प्रभारी निरीक्षक नंदबहादुर, आर. रायकवार, पी. दलाई, नासिर खान, डीके लिल्हारे, दिव्या सिंह के अलावा जीआरपी के एपीआई संदीप गोंडाने, एएसआई प्रवीण भिमटे, चंद्रकांत भोयर आदि ने की.