arrest

नागपुर. मोका के तहत जेल में बंद मोमिनपुरा की चर्चित इप्पा और नौशाद गैंग के सक्रिय सदस्य और उनके भाई इच्चू को मंगलवार की रात पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. इच्चू के परिसर में आने की भनक लगते ही बड़ी संख्या में पुलिस बल को खोज अभियान में लगाया गया. आखिर उसे गिरफ्तार करने में सफलता मिली. पिछले 3 वर्षों से वह पुलिस की गिरफ्त से बच रहा था. डोबीनगर निवासी इरशाद उर्फ इच्चू पीर मोहम्मद खान (32) के खिलाफ भी कई आपराधिक मामले दर्ज है.

शुरु से ही यह परिवार आपराधिक गतिविधियों में लिप्त रहा है. पीर मोहम्मद उर्फ पिरू पहलवान से इप्पा, नौशाद और इच्चू को विरासत में बदमाशी मिली. तीनों भी कम उम्र से ही परिसर में अपनी दादागिरी चला रहे है. 25 दिसंबर 2017 को नौशाद, इप्पा, इच्चू और इम्मू काल्या ने परिसर में रहने वाले फिरोज खान जाबिर खान (34) पर तलवार से जानलेवा हमला किया.

इम्मू ने तलवार से वार कर उसे बुरी तरह जख्मी कर दिया. देर रात मोतीबाग में आरोपियों को गिरफ्तार करने गई क्राइम ब्रांच की टीम पर अपराधियों ने जानलेवा हमला कर दिया और फरार हो गए. अन्य आरोपियों को तो पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया, लेकिन इच्चू फरार था. पुलिस ने गैंग पर मोका भी लगा दिया.

मंगलवार की रात पुलिस को जानकारी मिली कि इच्चू अपने घरवालों से मिलने डोबीनगर बस्ती में आया है. खबर मिलते ही पुलिस की अलग-अलग टीम बनाई गई. इच्चू भाग न जाए इसीलिए कोतवाली और गणेशपेठ थाने का स्टाफ भी बुलाया गया. देर रात पुलिस को उसे गिरफ्तार करने में कामयाबी मिली. बुधवार को उसे मोका की विशेष अदालत में पेश किया गया. अदालत ने उसे 28 सितंबर तक पुलिस हिरासत में रखने के आदेश दिए है.