Animal disease troubled by animal disease, skin disease stuck in more than 100

  • 24 मवेशियों की जान बची

नागपुर. यशोधरानगर पुलिस और क्राइम ब्रांच यूनिट 5 के संयुक्त दल ने मंगलवार की रात आजरी-माजरी परिसर में चल रहे अवैध कतलखाने पर छापा मारा. पुलिस ने गोदाम से 4000 किलो गौमांस जब्त कर 24 गौवंशों की जान बचाई. पुलिस ने 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जिनमें अब्दुल अजीज शेख कालू (54), भाजीमंडी, कामठी निवासी रेहान खान शब्बीर खान (30), महेंद्रनगर निवासी सुनील कृष्णा पातोंड (28) का समावेश है. 1 नाबालिग को पुलिस ने सूचना पत्र देकर छोड़ दिया, जबकि कतलखाना चलाने वाला आरिफ कुरैशी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है.

पुलिस को जानकारी मिली थी कि आजरी-माजरी परिसर में वैभव लक्ष्मी सोसायटी के सामने रहने वाला आरिफ कुरैशी अपने घर पर अवैध कतलखाना चला रहा है. यहां टीन के शेड डालकर गोदाम बनाया गया है और बड़े पैमाने पर गौवंशों को काटा जाता है. खबर के आधार पर यशोधरानगर पुलिस और क्राइम ब्रांच ने संयुक्त टीम बनाकर परिसर में घेराबंदी करके छापा मारा. ट्रक क्र. एम.एच.40-वाय.0951 पर गौमांस लादा जा रहा था, जबकि गोदाम में 17 गौवंशों को क्रूरता से बंधक बनाया गया था.

गोदाम के दूसरे गेट पर मालवाहन क्र. एम.एच.49-डी.5969 खड़ा था. जांच करने पर उसमें भी 8 मवेशी दिखाई दिए. गोदाम से करीब 4000 किलो मांस जब्त किया गया. पुलिस आरिफ कुरैशी की तलाश कर रही है.

डीसीपी गजानन राजमाने और विक्रम साळी के मार्गदर्शन में इंस्पेक्टर रमाकांत दुर्गे, विनोद पाटिल, एपीआई अनिल मेश्राम, पीएसआई ओमप्रकाश भलावी, कुलमेथे, श्रीनिवास दराड़े, जीतेंद्र भार्गव, हेड कांस्टेबल प्रवीण नखाते, दीपक धानोरकर, सुनील चौधरी, उमेश खोब्रागड़े, रविंद्र राउत, दिनेश चापलेकर, सुनील ठवकर, अनिल बावने, उत्कर्ष राउत, विजय लांजेवार, संतोष यादव, गजानन गोसावी, निलेश घायवट और किशोर ने कार्रवाई को अंजाम दिया.