Crime

    नागपुर. गिट्टीखदान पुलिस ने शहर में कार्यरत इंस्पेक्टर अरविंद भोले के खिलाफ रेप और धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है. विवाहित होते हुए भी भोले ने विधवा महिला को अपने झांसे में लेकर विवाह रचाया. साथ रहकर शारीरिक संबंध बनाए. बाद में अचानक फोन बंद करके नागपुर से गायब हो गए. पीड़ित महिला ने मामले की शिकायत सीपी अमितेश कुमार से की. गिट्टीखदान पुलिस ने 45 वर्षीय पीड़िता की शिकायत पर भोले के खिलाफ मामला दर्ज किया.

    सीपी ने भोले को निलंबित करने के आदेश भी दिए है. पीड़ित महिला को एक बेटा भी है. वर्ष 2000 में पति की दुर्घटना में मौत हो गई. वर्ष 2019 में भोले और पीड़िता की फेसबुक पर दोस्ती हुई. एक-दूसरे से चैटिंग और बातचीत करने लगे. भोले ने महिला को बताया कि उनकी पत्नी की तबीयत हमेशा खराब रहती है. इसीलिए वो दूसरा विवाह करना चाहते है. दोनों के प्रेम संबंध बन गए. 8 नवंबर 2020 को भोले ने पीड़िता के साथ वर्धा के कौंडण्यापुर में स्थित एक मंदिर में विवाह किया. इसके बाद पीड़िता के साथ नंदनवन स्थित किराए के फ्लैट में रहने लगे. बाद में फ्रेंड्स कालोनी परिसर में ही एक पुलिस अधिकारी का फ्लैट किराए पर लिया.

    शराब पीकर की मारपीट

    पीड़िता से पत्नी के उपचार के लिए मदद मांगी और 1 लाख रुपये लिए. उसके सोने के कंगन भी भोले बिना बताए ले गए. इसके बाद महिला से पुश्तैनी खेत जमीन अपने नाम पर करने की मांग करने लगे. महिला ने इंकार किया तो शराब पीकर मारपीट शुरू कर दी. लगातार दोनों के बीच विवाद हो रहा था. 18 फरवरी को भोले शहर से गायब हो गए. पीड़िता ने फोन किया तो नंबर ब्लॉक कर दिया. पीड़िता को अपने साथ धोखा होने का एहसास हुआ. उन्होंने मामले की शिकायत सीपी अमितेश कुमार से की. सीपी ने गिट्टीखदान पुलिस को मामला दर्ज करने के निर्देश दिए. भोले छुट्टी डालकर गायब हो गए है. सीपी ने प्रकरण और आरोपों की गंभीरता को देखते हुए भोले को निलंबित करने के आदेश जारी कर दिए है.