bjp

  • कल होना था आंदोलन

नागपुर. घरों की बिजली न काटने, 100 प्रतिशत नुकसानग्रस्त किसानों को 25,000 रुपए प्रति एकड़ देने, फसल बीमा योजना को तत्काल शुरू करने, कर्ज माफी योजना तत्काल शुरू करने की मांग को लेकर भारतीय जनता पार्टी की ओर से राज्यभर में 24 फरवरी को किया जाने वाला जेल भरो आंदोलन स्थगित कर दिया गया है. पूर्व ऊर्जा मंत्री और प्रदेश भाजपा के महासचिव चंद्रशेखर बावनकुले ने जानकारी देते हुए बताया कि कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने और राज्य सरकार द्वारा लाकडाउन करने की वजह से यह रद्द कर दिया गया है. पत्र- परिषद में उन्होंने आंदोलन स्थगित करने की जानकारी दी. इस दौरान उन्होंने राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा.

उन्होंने कहा कि 2020 में घोषणा करने के बाद भी मध्यमवर्गीय, आर्थिक रूप से कमजोर नागरिकों का 100 यूनिट का बिजली का बिल माफ करने की घोषणा का सरकार ने पालन नही किया है, पिछले वर्ष कोरोना काल के दौरान अप्रैल, मई, जून, जुलाई का बिल माफ करने की घोषणा की गई, लेकिन पालन नहीं किया गया. नागरिकों को दिए गए एवरेज बिल को दुरुस्त भी नहीं किए गए. सरकार ने 1 अप्रैल 2020 को रेट बढ़ाए, इस दौरान बढ़ोतरी में कुछ रियायत देने की बात कही गई थी, लेकिन सरकार ने वो भी आश्वासन पूरा नही किया. 

भाजपा सरकार ने नहीं काटी बिजली

बावनकुले ने कहा कि नागरिकों को आश्वासन देने के बाद भी नागरिकों की बिजली काटी जा रही है. भाजपा की सरकार में मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने 5 साल किसानों की बिजली नहीं काटी, 45 लाख किसानों को अविरत बिजली दी, लेकिन यह सरकार ट्रांसफार्मर से किसानों की बिजली काट रही है. उन्होंने कहा कि किसानों को मुआवजा भी नहीं दिया गया.