Man accused of attempting to murder woman after rape

  • 3 स्थानों पर पुलिस ने मारा छापा

नागपुर. प्रापर्टी पर अवैध कब्जा जमाने, धोखाधड़ी और फिरौती मांगने के मामले में फरार शिवसेना के निष्काशित शहर प्रमुख मंगेश कड़व अब तक पुलिस के हाथ नहीं लग पाया है. पुलिस ने सोमवार को उसकी पत्नी रुचिता कड़व को गिरफ्तार किया था. मंगलवार को रुचिता की पेशी न्यायालय में हुई. पुलिस और सरकारी वकील द्वारा मजबूत दलील पेश करने के बाद न्यायालय ने उसे 1 दिन की पुलिस हिरासत मंजूर की. बताया जाता है कि मंगलवार को पुलिस ने 3 स्थानों पर छापेमारी की, लेकिन कड़व हाथ नहीं लगा.

कड़व के खिलाफ सक्करदरा, हुड़केश्वर, बजाजनगर, सीताबर्डी और अंबाझरी थाने में 5 मामले दर्ज हो चुकी है. सक्करदरा और हुड़केश्वर में दर्ज मामलों में रुचिता भी आरोपी है. फिलहाल हुड़केश्वर के प्रकरण में पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया. मंगलवार की दोपहर पुलिस ने रुचिता को न्यायालय में पेश किया. मंगेश के बारे में पूछताछ करने, प्रकरण से संबंधित दस्तावेज जब्त करने, रकम का पता लगाने और फरार रहते हुए मंगेश ने कितने बार रुचिता से संपर्क किया आदि मुद्दों पर जांच करने के लिए पुलिस हिरासत मांगी गई. बचावपक्ष ने पुलिस हिरासत का विरोध करते हुए झूठे मामले में फंसाए जाने की जानकारी दी. न्यायालय ने दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद रुचिता को 1 दिन की पुलिस हिरासत में भेजा.

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि यदि पीसीआर आगे नहीं बढ़ा तो भी रुचिता को सक्करदरा थाने में दर्ज मामले में गिरफ्तार किया जाएगा. मंगलवार को एक टीम ने खबर के आधार पर भंडारा में छापेमारी की. कड़व के 3 रिश्तेदार भंडारा में रहते है. तीनों के घर पर पुलिस ने दबिश दी, लेकिन कड़व नहीं मिला. बताया जाता है कि वाट्सएप कॉलिंग पर कड़व लगातार रुचिता के संपर्क में था. वह अपने रिश्तेदारों का फोन इस्तेमाल कर रहा है. जल्द ही इस मामले में अन्य लोगों पर भी शिकंजा कसा जाएगा.