NDPS, Karim lala

  • एनडीपीएस सेल ने दबोचा

नागपुर. ड्रग्स की तस्करी और बिक्री में शहर के कई अपराधी भी सक्रिय है. उन्हीं में से एक करीम लाला को एनडीपीएस सेल ने मंगलवार को गिरफ्तार किया. तलाशी में उसके पास 2 लाख रुपये की एमडी (मेफेड्रॉन ड्रग्स) बरामद हुई. पहली बार वह पुलिस के हाथ लगा है. शहर में नशे के शौकीन कई व्यापारियों को वही माल बेचता है. अब तक वह पुलिस की गिरफ्त से बचा हुआ था. कई दिनों से एनडीपीएस सेल उसे दबोचने के लिए प्लानिंग कर रही थी. नागसेन सोसायटी, मानकापुर निवासी अब्दुल करीम अजीज शेख उर्फ करीम लाल (31) के खिलाफ शहर में कई आपराधिक मामले दर्ज है. खून, हत्या का प्रयास, डकैती, डकैती का प्रयास, चोरी, दंगा और सरकारी कर्मचारी पर हमला करने सहित कई मामले दर्ज है.

मंगलवार को गश्त करते समय एनडीपीएस सेल को वह पुलिस लाइन टाकली परिसर में लाल बिल्डिंग के सामने दिखाई दिया. पुलिस दल को देखते ही उसने भागने की कोशिश की, लेकिन पकड़ा गया. 2 पंचों के समक्ष पुलिस ने उसकी तलाशी ली. उसकी पैंड की जेब में 51 ग्राम 72 मिली ग्राम एमडी बरामद हुई. उसके खिलाफ गिट्टीखदान थाने में एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया.

डीआईजी सुनील फुलारी, डीसीपी गजानन राजमाने और एसीपी सुधीर नंदनवार के मार्गदर्शन में इंस्पेक्टर सार्थक नेहेते, एपीआई विजय कसोधन, हेड कांस्टेबल राजेश देशमुख, प्रदीप पवार, समाधान गीते, नामदेव टेकाम, विनोद गायकवाड़, नितिन मिश्रा, कपिलकुमार तांडेकर, अश्विन मांगे, राहुल गुमगांवकर, समीर शेख, नितिन सालुंखे, राहुल पाटिल, रुबीना शेख और पूनम रामटेके ने कार्रवाई को अंजाम दिया.

गुजरात से आता है माल

शहर के अन्य ड्रग पेडलर जहां मुंबई से माल मंगवाते है, वहीं करीम लाला का माल गुजरात से आता है. बताया जाता है कि गिट्टीखदान थाना क्षेत्र का समीर की मदद से उसने एमडी का व्यापार शुरु किया. समीर ही उसे गुजरात के चैनल से माल भिजवाता है. यही कारण है कि करीम अब तक पुलिस के हाथ नहीं लगा.

समीर पहले अवैध शराब तस्करी को लेकर भी चर्चा में रहा है. अब वह गुजरात में बस गया है. वहीं से अवैध धंधा आपरेट करता है. समीर के भाई ने चंद्रपुर में शराब तस्करी करते समय पुलिस अधिकारी को उड़ा दिया था. मौके पर ही सब इंस्पेक्टर की मौत हो गई थी. इस मामले के बाद ही समीर गुजरात चला गया. जानकारी मिली है कि करीम लाला ने कई युवाओं को अपने काम के लिए रखा था. एक पुड़िया पहुंचाने के लिए 500 रुपये कमिशन देता है.