Surgical Gloves
File Photo

    नागपुर. बंगाल के दक्षिण 24 परगना जिले से लापता हुई किशोरी को क्राइम ब्रांच की सामाजिक सुरक्षा शाखा ने नागपुर में ढूंढ निकाला. उसे विवाह का झांसा देकर भगाने वाले युवक को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर परगना पुलिस के हवाले कर दिया. पकड़ा गया युवक रहमत कलाम शेख (27) बताया गया.

    जानकारी के अनुसार रहमत ने पीड़ित किशोरी को अपने प्रेमजाल में फंसाया. उसे विवाह का झांसा देकर अपने साथ चलने को कहा. किशोरी के लापता होने के बाद परिजनों ने पुलिस से शिकायत की और अपहरण का मामला दर्ज किया गया. शक्ति वाहिनी नामक एनजीओ ने इस संबंध में पुलिस कमिश्नर अमितेश कुमार को पत्र लिखा और युवती को ढूंढने की अपील की. सीपी ने क्राइम ब्रांच को जांच के आदेश दिए. सामाजिक सुरक्षा विभाग की टीम ने मोबाइल लोकेशन खंगाला तो पता चला कि किशोरी मोदी नंबर 3 परिसर में है. पुलिस ने आसपास के दूकानदारों से किशोरी के बारे में पूछताछ की.

    विवाह का दिया था झांसा 

    कुछ लोगों ने बताया कि बंगाल के कुछ कारीगर एक मकान में किराए से रहते हैं. पुलिस वहां पहुंची तो किशोरी मिल गई. उसने बताया कि रहमत के साथ उसके प्रेम संबंध है. वह शादी करने के बहाने उसे नागपुर लेकर आया था. रहमत यशोधरानगर थानांतर्गत बंदे नवाजनगर में रेडीमेड कपड़े तैयार करने वाले कारखाने में काम करता है. यशोधरानगर पुलिस को साथ लेकर पुलिस ने कारखाने में दबिश दी और रहमत को गिरफ्तार कर लिया. किशोरी के मिलने की जानकारी परगना पुलिस को दी गई.

    पुलिस दल नागपुर से दोनों को साथ ले गया. डीआईजी सुनील फुलारी, डीसीपी गजानन राजमाने और एसीपी नलावड़े के मार्गदर्शन में इंस्पेक्टर सार्थक नेहेते, पीएसआई मंगला हरडे, हेड कांस्टेबल अनिल अंबादे, कांस्टेबल राशिद खान, मनीष रामटेके, अजय पौनीकर, भूषण झाड़े और सुजाता पाटिल ने यह कार्रवाई की.