water supply

  • महापौर दयाशंकर तिवारी से मिला राकां का शिष्टमंडल

नागपुर. नागपुर महानगरपालिका में 24 बाय 7 योजना लागू किए जाने का डंका पीटते हुए सत्तापक्ष भाजपा ने देशभर में अपनी पीठ तो थपथपा ली, किंतु वास्तव में इस तरह की कोई योजना ही नहीं है. जबकि जलापूर्ति में क्रांति लाने का दावा करते हुए केवल समान जलापूर्ति सुनिश्चित करने का ठेका कम्पनी को आवंटित किया गया. अब घोषणा के अनुसार यदि 24 घंटा जलापूर्ति का वादा नहीं निभाया गया तो भविष्य में जनांदोलन करने की चेतावनी राकां शहर अध्यक्ष अनिल अहिरकर ने दी.

शहर में शुरू हुए जलसंकट के कारण हो रही परेशानियों को लेकर बुधवार को राकां का शिष्टमंडल महापौर दयाशंकर तिवारी से मिला. पूर्व गुट नेता वेदप्रकाश आर्य, प्रशांत पवार, दुनेश्वर पेठे, श्रीकांत शिवणकर, विशाल खांडेकर, रवीन्द्र इटकेलवार, महेन्द्र भांगे, शैलेन्द्र तिवारी, नूतन रेवतकर, मिलिंद मानापुरे, रोशन भिमटे, राजन नगरारे, लक्ष्मी सावरकर आदि उपस्थित थे.

NESL की करें जांच

चर्चा के दौरान शिष्टमंडल ने कहा कि वर्ष 2012 में शहर को जलापूर्ति के लिए पेंच से केवल 540 एमएलडी पानी लिया जाता था. उस समय पानी की क्षति होने का कारण देते हुए केवल 160 एमएलडी का बिलिंग किया जाता था. अब वर्तमान में मनपा को 700 एमएलडी पानी मिलता है, जबकि पानी का बिलिंग केवल 140 एमएलडी का होने का आरोप भी लगाया. इसके अलावा वर्ष 2011 में 5 रु. प्रति यूनिट का पानी बिल था. अब 7.75 रु. के अनुसार बिलिंग तो होता है. इसके बावजूद मनपा नुकसान में है. जलापूर्ति व्यवस्था चाक-चौबंद करने के उद्देश्य से मनपा ने एनईएसएल कम्पनी का गठन तो किया, किंतु जलापूर्ति व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है. वर्तमान में मनपा की बेतरतीब कार्यप्रणाली के कारण ही लोगों को एक दिन बाद पानी मिल रहा है. जबकि जनता को 24 घंटा पानी उपलब्ध कराने की घोषणा की गई थी.

लिखित में देंगे जवाब : महापौर

चर्चा के दौरान अहिरकर ने कहा कि यदि शीघ्र ही जलापूर्ति को सुचारु नहीं किया गया तो 3 दिनों के बाद से शहर के अलग-अलग हिस्सों में आंदोलन शुरू कर दिया जाएगा. जिसे न्याय मिलने तक जारी रखा जाएगा. चर्चा के दौरान महापौर दयाशंकर तिवारी ने कहा कि जिन समस्याओं को लेकर शिष्टमंडल का आक्रोश है. उस संदर्भ में सर्वप्रथम प्रशासन से जानकारी ली जाएगी. वास्तविकता उजागर होने के बाद निश्चित रूप से दिए गए ज्ञापन का लिखित जवाब भी देने का आश्वासन उन्होंने दिया.