मेट्रोविजन बिल्डकॉन घोटाला : गुरनुले ने अलग-अलग जगह छुपाई रकम

  • फरार रहने में मदद करने वाला गिरफ्तार

नागपुर. लोगों को कम समय में अमीर बनने का सपना दिखाने वाला मेट्रो विजन बिल्डकॉन कम्पनी का संचालक विजय रामदास गुरनुले ने फरार रहते हुए मोटी रकम अलग-अलग जगह छुपाई. 56 लाख रुपये उसने अमरावती में अपने रिश्तेदार के घर के आंगन में छुपाए थे. यह रकम पुलिस जब्त कर चुकी है. इसी तरह और भी जगहों पर रकम छुपाए जाने की जानकारी पुलिस को मिली है. रकम जब्त करने के लिए पुलिस की अलग-अलग टीमें सर्च ऑपरेशन कर रही हैं. जल्द ही मोटी रकम हाथ लगने का अनुमान लगाया जा रहा है. गुरनुले को फरार रहने में मदद करने वाली कम्पनी के प्रमोटर तन्मय जाधव को पुलिस ने मंगलवार की रात गिरफ्तार किया.

मामले की जांच कर रहे इंस्पेक्टर भीमराव खणदाले ने उसे बुधवार को न्यायालय में पेश किया. सरकारी वकील प्रशांत साखरे ने कोर्ट को बताया कि मामला दर्ज होने के बाद तन्मय ही गुरनुले की मदद कर रहा था. वह लगातार गुरनुले के संपर्क में था. फरार होने से पहले गुरनुले ने उसे 7 लाख रुपये दिए थे. यह रकम भी पुलिस ने जब्त की है. इस घोटाले में तन्मय की भी भूमिका है. पुलिस को उससे भी पूछताछ करनी है. न्यायालय ने उसे 3 दिसंबर तक पुलिस हिरासत में रखने के आदेश दिए. जानकारी मिली है कि अमरावती की तरह ही गुरनुले ने अन्य शहरों में अपने रिश्तेदारों के यहां मोटी रकम छुपाई है. उससे मिली जानकारी के आधार पर 3 टीमें रकम जब्त करने के लिए अलग-अलग स्थानों पर छापेमारी कर रही हैं. इस मामले में और भी आरोपियों की गिरफ्तारी हो सकती है. गुरनुले ने जिस रिश्तेदार के यहां रकम छिपाई थी उससे भी पूछताछ की जानी है. 

गजभिए और कड़ू को 3 दिन का PCR

गुरनुले के सबसे करीबी बताए जाने वाले देवेंद्र गजभिए और रोशन कड़ू की मंगलवार को पुलिस हिरासत खत्म हुई. उन दोनों को भी पुलिस ने न्यायालय में पेश किया. प्रकरण की जांच करने और उनके द्वारा निवेश करवाई गई रकम का पता लगाने के लिए पुलिस हिरासत मांगी गई. बताया जाता है कि गुरनुले का व्यापार गजभिए ही संभालता था. इसीलिए निवेशकों की रकम गुरनुले ने कहां-कहां निवेश की इसकी जानकारी गजभिए ही बता सकता है. वह खुद भी इस कम्पनी में प्रमुख पद पर कार्यरत था. उसके खाते में जमा 26 लाख रुपये और 4 लाख रुपये की एफडी पुलिस फ्रीज कर चुकी है. इसके अलावा भी निवेश की मोटी रकम गजभिए के पास होने की संभावना है. अब तक गुरनुले, गजभिए और बैंक खातों से 1 करोड़ से ज्यादा रकम पुलिस जब्त कर चुकी है.