नाबालिगों को अर्धनग्न घूमाना पड़ा महंगा, जरीपटका के सीनियर पीआई समेत 7 पर FIR

नागपुर. बार में हथियार के साथ उत्पात मचाने के मामले में 5 नाबालिग अपराधियों को गिरफ्तार करने के बाद उन्हें अर्धनग्न हालत में पैदल घुमाना जरीपटका पुलिस को महंगा पड गया. इस मामले में जरीपटका थाने के सीनियर पीआई खुशाल तिजारे, पीएसआई विजय धुमाल, सिपाई लक्ष्मण चौरे, मुकेश यादव, वसंत तिवारी, डागा और सुशील महाजन के खिलाफ ज्यूवेनाईन जस्टिस एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया.

बता दें कि 22 सितंबर को 5 नाबालिग और एक बालिग व्यक्ति ने जरीपटका परिसर के एक बार में हथियार के साथ उत्पात मचाते हुए लूटपाट की घटना को अंजाम दिया था. दूसरे दिन सभी आरोपियों को पकड़कर थाने लाया गया.

थाने में उनकी पीटाई करने के बाद उन्हें अर्धनग्न हालत में परिसर के सीमेंटरोड पर घुमाया गया. इस दौरान रास्ते के कई लोगों ने नाबालिगों का वीडियो निकाला और सोशल मीडिया पर वायरल किया. इसके बाद उन्हें ज्यूवेनाईन कोर्ट के समक्ष पेश किया गया. कोर्ट में नाबालिगों के साथ पूछताछ करने के बाद उन्हें पुलिस थाने में शिकायत करने की सलाह दी गई.

5 में से 3 ने थाने में इसकी शिकायत की. मामले को गंभीरता से लेते हुए सीपी अमितेशकुमार और एसीपी परशुराम कार्यकर्ते के मार्गदर्शन में जांच के आदेश दिये गए. जांच के बाद गुरुवार को जरीपटका थाने के सीनियर पीआई और पीएसआई समेत 7 पर एफआईआर दर्ज की गई.