Mayo Hospital

  • निजी लैब की रिपोर्ट ने बढ़ाया प्रशासन का सिरदर्द

नागपुर. कोरोना मरीजों का आंकडा दिनोंदिन बढ़ता ही जा रहा है. तमाम तरह के उपायों के बाद भी मरीजों के संक्रमित होने का सिलसिला बढ़ा है. हालांकि स्वस्थ्य होने के बाद अब तक 800 से अधिक मरीजों को छुट्टी भी दे दी गई है. लेकिन हर दिन नये मरीज आने से अस्पतालों के बिस्तर खाली होने का नाम ही नहीं ले रहे हैं.

निजी प्रयोगशाला से जिन लोगों की रिपोर्ट पाजिटिव आ रही हैं. उनको लेकर प्रशासन की मुश्किलें बढ़ गई हैं. क्योंकि यह लोग क्वारंटाइन सेंटर में नहीं है. अपने घर या निजी अस्पताल में रहकर इलाज करा रहे हैं. इनकी वजह से परिजनों सहित संपर्क में आने वाले अन्य लोगों में भी संक्रमण की संभावना बढ़ गई है. इस बीच शनिवार को 65 नये मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई है. इसके साथ ही अब तक कुल मरीजों की संख्या 1270 हो गई है.

शनिवार को आई रिपोर्ट में एम्स की लैब से 31. मेडिकल से 5. मेयो से 1. निरी से 21. निजी 6 और मुंबई से एक मरीज की रिपोर्ट पाजिटिव आई. इनमें नाईक तालाब से 18. प्रेमनगर से 13 नये लोगों में संक्रमण पाया गया है. इसी तरह गणेश पेठ. रामदासपेठ. उप्पलवाडी. मोमिनपुरा. मेहदीबाग. लष्करीबाग और कलमेश्वर के मरीजों का समावेश है. 

सामूदायिक फैलाव की ओर
अकेले दो दिनों के भीतर सवा सौ से अधिक मरीज पाजिटिव आ गये हैं. शुक्रवार को भी 63 मरीजों की रिपोर्ट आई थी. इससे साफ हो गया है कि अब कोरोना ने अपनी रफ्तार बढ़ा दी है. साथ ही सामूदायिक फैलाव की ओर स्थिति बढ़ने लगी है. निजी लैब से टेस्ट कराने वाले मरीज या निजी अस्पताल में भर्ती होते है या फिर घर पर ही इलाज कराते हैं. इन लोगों की वजह से संक्रमण का खतरा और बढ़ गया है. यदि कोरोना की रफ्तार इसी तरह की रही तो भविष्य में स्थिति बिगड़ सकती हैं. इस बीच शनिवार को एम्स से 5. मेयो से 12 और मेडिकल से 15 सहित कुल 32 लोगों को छुट्टी दी गई. सभी को 7 दिनों के होम क्वारंटाइन में रहने की सलाह दी गई है. 

सिटी में आज तक की स्थिति

1270 कुल संक्रमित

65 शनिवार को पॉजिटिव

18 की अब तक मौत

2,668 क्वारंटाइन

272 होम क्वारंटाइन

849 को मिली छुट्टी