strike

  • 1 से काम संपूर्ण काम बंद

नागपुर. सातवें वेतन आयोग की शिफारिश के अनुसार सुधारित वेतन संरचना लागू करने की मांग को लेकर राज्य के सभी गैरकृषि विश्वविद्यालयों व महाविद्यालयों के शिक्षकेतर कर्मचारी व अधिकारियों का आंदोलन मंगलवार को भी जारी रहा. सरकार द्वारा ध्यान नहीं दिये जाने पर अब कर्मचारियों ने 1 अक्टूबर से पूर्ण काम बंद आंदोलन की चेतावनी राज्य महाविद्यालयीन व विद्यापीठीय सेवक संयुक्त कृति समिती ने दी है.

समिति सदस्यों ने बताया कि विविध मांगों को लेकर कर्मचारी और अधिकारी आंदोलन कर रहे हैं. इससे पहले 24 सितंबर को कर्मचारी काम पर आये थे. लेकिन सभी हस्ताक्षर करने के बाद आंदोलन में सहभागी हुये. इससे विवि का कामकाज ठप हो गया है. वर्तमान में कर्मचारी विवि के महाराज बाग परिसर सहित अमरावती मार्ग स्थित कैम्पस परिसर में आंदोलन कर रहे हैं.

आंदोलन में विवि की सभी कर्मचारी व अधिकारी संगठन शामिल हुई है. इस बीच कृति समिति सदस्यों ने उच्च शिक्षा मंत्री उदय सामंत से संपर्क कर चर्चा भी की. उस वक्त मंत्री ने मांगें जल्द पूर्ण किये जाने का आश्वासन दिया था. इससे पहले भी कर्मचारियों को इसी तरह का आश्वासन मिला था.

यही वजह है कि अब जब तक सरकार द्वारा निर्णय जारी नहीं किया जाता तब तक कृति समिति द्वारा आंदोलन जारी रखा जाएगा. अब इसी श्रंखला में 1 अक्टूबर को कर्मचारी कामबंद आंदोलन करेगे. इसमें राज्यभर के विश्वविद्यालयीन व महाविद्यालयीन कर्मचारी शामिल होगे. विवि द्वारा 1 अक्टूबर से ही अंतिम वर्ष की परीक्षाएं ली जाने वाली है. यही वजह है कि परीक्षा के कामकाज पर सीधा असर पड़ने की पूरी संभावना है.